टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

फ़ीचर्ड ब्लॉग

CBSE बोर्ड एग्जाम कैंसिल - ट्विटर पर हुई मीम्स की बौछार

CBSE बोर्ड एग्जाम कैंसिल -  ट्विटर पर हुई मीम्स की बौछार
SheThePeople Team

15 Apr 2021

बोर्ड एग्जाम ट्विटर मीम्स - अगले महीने होने वाली CBSE बोर्ड की परीक्षा को स्थगित करने के लिए केंद्र पर बढ़ते दबाव के बीच, शिक्षा मंत्रालय ने, PM मोदी के साथ परामर्श के बाद, कक्षा 10 की परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय लिया। इससे पहले, शिक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया था कि परीक्षाओं को समय पर आयोजित करना ” मुश्किल ” है, जिसे देखते हुए ताजा संक्रमण बड़ गया है। CBSE की ऑफ़लाइन परीक्षाएं 4 मई से शुरू होने के लिए तय की गयीं थी ।

सोनू सूद ने दीं सभी बच्चों को बधाइयाँ


सोनू सूद ने सभी बच्चों को ट्विटर के ज़रिए बधाइयाँ दीं। सोनू सूद एक बॉलीवुड एक्टर हैं और ये शुरू से ही बच्चों के एग्जाम कैंसिल करने के लिए आवाज उठा रहे थे। ये फैसला सिर्फ CBSE के बच्चों के साथ हुआ है इसलिए आप इस से फेक न्यूज़ फैलाने से बचें। 12th के बोर्ड एग्जाम अभी भी लिए जायेंगे बस कुछ समय के लिए पोस्टपोन कर दिए गए हैं। सोनू सूद ने ट्विटर पर लिखा “फाइनली ऐसा होही गया , सभी बच्चों को बधाइयां “।

10th और 12th बोर्ड एग्जाम ट्विटर मीम्स


सभी लोग 10 के बच्चों को 12 से तुलना कर के फोटोज़ और वीडियोस डालकर बना  रहे फनी मीम्स। ऐसे ही कुछ हम आपके साथ नीचे शेयर कर रहे हैं और आप हंस हंस कर पागल हो जाएंगे। पूरा इंटरनेट कल से ऐसे ही कंटेंट से भर गया है।

https://twitter.com/__x_dhruv_x__/status/1382256902134849536

 

https://twitter.com/Gauri_doonite/status/1382261783985983491

https://twitter.com/iampiyush77/status/1382258879124295680

https://twitter.com/Kush_official_/status/1382261758476177411

 

मिनिस्ट्री ने कहा है कि वो जून 1 को स्तिथि देखेंगे और फिर आगे का फैसला सभी को बताएंगे। क्योंकि अभी 12th को लेकर फाइनल फैसला आना बाकि है। सोनू सूद ने इस से पहले मंगलवार को ट्वीट किया था कि एग्जाम सेंटर्स को कोविद का हॉटस्पॉट न बनने दें और हमारे बच्चे हमारे लिए बहुत कीमती हैं।

https://twitter.com/Jethiya_lal/status/1382252439668101121

सोनू सूद बनें फिर से एक बार मसीहा


इस से पहले भी सोनू सूद ने एक वीडियो के ज़रिए स्टूडेंट्स का सपोर्ट किया था जिस में इन्होंने बताया था कि कैसे बच्चों के साथ रिस्क नहीं लिया जा सकता है। जब पूरे भारत में कोरोना के केसेस 2 लाख के पास बहुत चुके हैं वो भी सिर्फ 24 घंटे में । बच्चे सभी जगह इस फैसले से बेहद खुश हैं और फ्री महसूस कर रहे हैं। कई बच्चों को तो एग्जाम होने न होने के स्ट्रेस से डिप्रेशन और टेंशन होने लगी थी जो बच्चों की मानसिक सेहत के लिए सही नहीं था।

https://twitter.com/SonuSood/status/1382250603007467521

https://twitter.com/srcsmic_enginer/status/1382258261966036994
अनुशंसित लेख