भारत में अभी दुनिया की सबसे ज्यादा सिंगल महिलाएं हैं। उनकी संख्या 74 मिलियन जितनी है जो कि पूरे देश की 12% महिलाओं की जनसंख्या है। सिंगल रहना कोई आसान बात नहीं है। आप भले ही काम करती हैं, अच्छा खासा कमाती है, लेकिन फिर भी सोसाइटी आपको वही सवाल बार-बार करती है कि ,”कब सेटल हो रही हो? अभी तक कोई मिला नहीं? तुम अकेली मैनेज कैसे करती हो? अनमैरिड महिलाओं की बदनामी 

सोसाइटी अनमैरिड महिलाओं की बदनामी ऐसे करती है:

सिंगल महिलाएं सेफ नहीं है

सोसाइटी आपसे कहती है कि अगर तुम सिंगल रहोगी तो तुम्हें प्रोटेक्ट कौन करेगा? सिंगल लड़कियां ऐसी टारगेट होती हैं। तुम शादी कर लो तुम्हारा पति तुम्हारी सुरक्षा करेगा। तुम्हारे खर्चे कौन उठाएगा अगर तुम शादी नही करेगी तो? पेरेंट्स पर कब तक बोझ बनोगी आदि। पर सोचने वाली बात तो यह है कि क्या मैरिड वूमेन भी सेफ हैं?

कैरेक्टर पर सवाल उठाती है

तुम कैसी औरत हो अगर तुमको परिवार या बच्चे नहीं चाहिए ? यह तो हर लड़की को करना पड़ता है। सोसाइटी आपकी मोरालिटी पर सवाल करती है और आपसे कहती है कि तुम शादी से पहले सेक्शुअली एक्टिव कैसे हो? तुम्हारा तो चरित्र ही सही नहीं है।

खुश रहने के तरीके, अनमैरिड महिलाओं

एज शेमिंग करती है

सोसाइटी तुमसे यह भी कहती है अब तो तुम 30 की हो गई हो। अब तक शादी नहीं करी? अब कौन तुमसे शादी करेगा? अब अच्छा लड़का कहां से मिलेगा। वक्त रहते शादी कर ली होती तो यह सब नहीं होता आदि।

एक्सपेक्टेशंस कम रखो अनमैरिड महिलाओं की बदनामी 

तुम तो सारे लड़के रिजेक्ट कर देती हो। इतनी हाई एक्सपेक्टेशन मत रखा करो। जो भी मिल रहा है उससे शादी कर लो नहीं तो ऐसा होगा कि बाद में तुम्हें कोई मिलेगा ही नहीं। थोड़ा एडजस्ट करना अब सीख लो।

पति ही कमाता है अनमैरिड महिलाओं की बदनामी 

तुमसे कहा जाता है कि तुम्हें और क्यों पढ़ाई करनी है? तुम शादी कर लो तुम्हारा हस्बैंड है, वह तुम्हारे लिए भी कमाएगा। सोसाइटी का ये कहना है कि आपका पति आपसे उम्र में बड़ा होना चाहिए और ज्यादा पढ़ा लिखा होना चाहिए। वह तुम्हारा ध्यान रखेगा, तुम्हें कमाने की ज़रूरत नहीं है।

Email us at connect@shethepeople.tv