वजाइनल डिस्चार्ज बेहद नॉर्मल है और यह आपके शरीर का एक तरीका है जिससे वजाइना को साफ और हैल्दी रखा जा सके। यह डिस्चार्ज आमतौर पर puberty के साथ शुरु होता है और menopause पर धीरे-धीरे खत्म हो जाता है। पानी के जैसा वजाइनल डिस्चार्ज हमारी वजाइना और cervix के glands से निकलता है, जिसके साथ वजाइना की muscle के पुराने cells भी निकल जाते हैं। यह हमारे शरीर का नेचुरल तरीका है जिससे वजाइना भी हैल्दी और साफ-सुथरी रहती है। vaginal discharge hindi

इसका कलर और अमाउंट हर किसी का अलग-अलग होता है। शी द पीपल से बात करते हुए gynaecologist डॉक्टर आकृति गुप्ता कहती हैं, “नॉर्मल वजाइनल डिस्चार्ज का कलर transparent से लेकर उजला होता है और इसकी कोई गन्ध नहीं होती।”

अगर वजाइनल डिस्चार्ज बढ़ जाए तो क्या चिंता की बात है?

बहुत सारी महिलाओं को अपने वजाइनल डिस्चार्ज, इसके गन्ध, कलर और अमाउंट को लेकर चिंता बनी रहती है। लेकिन पहली बात तो ये जान लें की वजाइनल डिस्चार्ज पूरी तरह नॉर्मल और नेचुरल प्रोसेस है और यह आपके puberty के वक़्त शुरु होता है और जब menopause तक आप पहुँचने लगते हैं तो यह धीरे-धीरे खत्म हो जाता है।

वैसे तो सभी वजाइनल डिस्चार्ज नॉर्मल हैं लेकिन अगर उनसे अजीब गन्ध आने एलजी जाए या बदबू आए या फिर उनका कलर पीला या हरा रंग का हो जाए तो अपने gynaecologist को जरुर दिखाएँ। यह किसी STI(sexually transmitted disease) के symptom हो सकते हैं।

डॉक्टर आकृति गुप्ता कहती हैं, “सबसे पहले अगर जानना है की आपके वजाइनल डिस्चार्ज हैल्दी हैं या नहीं, इसके लिये पहले इन बातों को जान लें-

आपके वजाइनल डिस्चार्ज की quantity सेक्सुअल intercourse के दौरान बढ़ जाती है।

कुछ इमोशनल मोमेंट में भी डिस्चार्ज की quantity बढ़ जाती है।

जब आप ovulation में हो, तब भी वजाइनल डिस्चार्ज बढ़ जाता है।

जब आप किसी तरह के contraception का इस्तेमाल कर रहे हों, तब भी वजाइनल डिस्चार्ज बढ़ जाती है। vaginal discharge hindi

इसलिए ऐसा भी होता है की आपकी वजाइनल डिस्चार्ज ज्यादा हो और हैल्दी हो। इससे हमें पता चलता है की कई बार वजाइनल डिस्चार्ज बढ़ जायें तो भी चिंता की बात नहीं।

डिस्चार्ज के कारण 

इसके कई कारण हो सकते हैं जो infectious नहीं हो जैसे की साइकोलॉजिकल और इमोशनल, cervical ectopy, vulva dermatitis, और यह tampoon या मेंस्ट्रूअल कप लगाने के कारण भी हो सकते हैं। Bacterial vaginosis और Candida infections ऐसे दो कारण हैं जो आपके डिस्चार्ज को बढ़ा सकते हैं बिना किसी सेक्सुअल वजह के।

इसके बढ़ जाने के कुछ सेक्सुअल बीमारियाँ(STI) भी हैं जैसे की Chlamydia trachomatis, Neisseria Gonorrhoeae, और Trichomonas vaginalis.

वजाइना को हैल्दी और साफ कैसे रखें?

यह सलाह दी जाती है की महिलाओं को वजाइना में साबुन या perfume या फिर शॉवर जैल का इस्तेमाल करने से बचना चाहिये। बाज़ार में कई फेमिनिन hygeine प्रॉडक्ट्स भी मिलते हैं जैसे wipes, sprays और पॉवडर जिनके इस्तेमाल से वजाइना का pH बैलेंस बिगड़ जाता है और एलर्जी भी हो सकती है, इसलिए इनसे बचना चाहिये। 

और तो और कई लोग वजाइनल डूशिंग भी करते हैं जिनसे bacterial vaginosis का खतरा बना रहता है। आप सादे पानी और mild साबुन का इस्तेमाल करके अपनी वजाइना को साफ रख सकते हैं, इनका ज्यादा इस्तेमाल ठीक नहीं होगा क्योंकि वजाइना खुद में ही एक सेल्फ-क्लीनिंग सिस्टम है। vaginal discharge hindi

Email us at connect@shethepeople.tv