अक्सर महिलाएं अपने वजाइना से निकलती हवा या गैस को महसूस करती हैं। इसका कारण वजाइना में हवा के ट्रैप या फसने के बाद अचानक से बाहर आना होता है। आइए जानते हैं वजाइनल फार्ट या गैस क्या होता है और इसके कारण क्या है ?

क्या होता है वजाइनल फार्ट?

कई बार महिलाओं के वजाइना में हवा प्राप्त हो जाना वजाइनल गैस या queefing कहलाता है। एक बार जब हवा अंदर चली गई तो उसका बाहर आना निश्चित है और जब यह बाहर आती है तब इसे वजाइनल फार्ट कहा जाता है।

जानिये वजाइनल फार्ट के कारण

  • सेक्सुअल एक्टिविटी – सेक्स के दौरान पेनिस के वजाइना के अंदर बाहर जाने के कारण वजाइनल गैस वजाइनल में ट्रैप हो सकती है।और orgasm के दौरान यही गैस/हवा एक आवाज़ के साथ बाहर आती है।
  • पेल्विक् फ्लोर डिस्फंक्शन
  • हाइजीन प्रोडक्ट – menstrual cup या tampon इत्यादि के इस्तेमाल से।
  • स्ट्रेंचिंग एक्सरसाइज – वजाइना को रिलेक्स के दौरान किसी व्यायाम में होना।
  • वजाइनल डेलिवरी : जो मां वजाइना के द्वारा अपने बच्चों को जन्म देती है उनमें भी वजाइनल गैस की समस्या देखने को मिल सकती है।

वेजाइनल फार्ट से कैसे बचाव करें ?

वजाइनल गैस  होना कोई शर्म की बात नहीं है इसलिए आप इसके होने पर खुद को शर्मिंदा ना महसूस करें। हालांकि आप इसे अवॉइड करने के लिए कुछ तरीके इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • Squatting down : अगर वजाइनल गैस प्राकृतिक रूप से नहीं जाती तो आप squat कर सकते हैं।
  • सेक्सुअल एक्तिविटी कम करें : अगर आपके लिए फार्ट नुकसानदायक है तो आप सेक्सुअल एक्टिविटी कम करें।
  • Kegel व्यायाम : कीगल एक्सरसाइज से पेल्विक फ्लोर मसल्स में ताकत आने से यह समस्या कम हो सकती है।

वजाइनल फ़िस्तुलास (Vaginal Fistulas)

अक्सर वजाइनल गैस का कारण वजाइनल fistuals की परेशानी हो सकती है जो वजाइना और पेल्विक ऑर्गन में हो सकती है।

तो ये थे वजाइनल फार्ट के कारण और बचाव के तरीके।

Email us at connect@shethepeople.tv