यदि आपको अपनी वजाइना से कभी कोई आवाज आई हो और आप इस कारण परेशान हैं कि यह क्या हुआ, तो घबराएँ नहीं। इसको वजाइनल फार्ट (Vaginal Fart) या क्वीफ कहा जाता है। ऐसा होना बेहद सामान्य बात है और ऐसा सभी के साथ होता है। इससे घबराने या परेशान होने की जरूरत नहीं है।

वजाइनल फार्ट एक बेहद सामान्य स्तिथि होती है। इस स्तिथि में वजाइना के अंदर फंसी हवा बाहर निकलती है और इस हवा में कोई महक नहीं होती।

वजाइनल फार्ट के कारण :

  • स्ट्रेचिंग या एक्सरसाइज करने के दौरान वजाइना में हवा फंस जाती है। और फिर यह फंसी हुई हवा बाहर निकलने के लिए वजाइनल फार्ट को अंजाम देती है। लोअर बॉडी की एक्सरसाइज में वजाइना रिलैक्स होती है जिसके कारण हवा आसानी से अंदर फंस सकती है।
  • सेक्स के दौरान मूवमेंट होने के कारण वजाइना के अंदर हवा ट्रैप हो जाती है। और फिर यही हवा फार्ट के रूप में वजाइना से बाहर आती है।
  • अगर आपको वजाइनल फार्ट की दिक्कत बहुत ज्यादा है तो आपको फिस्टुला हो सकता है। फिस्टुला दो बॉडी पार्ट के बीच ज्यादा स्पेस को कहते हैं।
  • पीरियड्स के टाईम यूज़ किये जाने वाले टैम्‍पोन और मेंस्ट्रुअल कप इन्सर्ट करने पर भी हवा अंदर फंस सकती है। यह हवा टैम्‍पोन हटाते वक्त अपने आप निकल जाती है। स्ट्रेचिंग या एक्सरसाइज करते वक्त भी यह हवा फार्ट के रूप में निकल जाती है।
  • अगर आपके यूरिनरी ट्रैक्ट या फीकल ट्रैक्ट में कोई प्रॉब्लम है या आपके पेल्विक एरिया के पार्ट आपस में उलझ जाते हैं तो भी आपको वजाइना से फार्ट होने की दिक्कत हो सकती हैं। इस तरह की प्रॉब्लम में आपको दर्द भी हो सकता है। ऐसी दिक्कत से बचने के लिए पेल्विक फ्लोर मसल्स की एक्सरसाइज जरूर करें।
Email us at connect@shethepeople.tv