विद्या बालन की फ़िल्म शकुंतला देवी की रिलीस डेट की घोषणा कर दी गयी है। फ़िल्म जुलाई 31 से अमेज़न प्राइम पर स्ट्रीम होगी। अनु मेमन की राइटिंग और डायरेक्शन में बनी ये बायोपिक की कहानी है शकुंतला देवी की जिनको ह्यूमन कंप्यूटर के नाम से जाना जाता है।

image

कैसे मिला ह्यूमन कंप्यूटर का नाम

ये नाम उनको इसलिए दिया गया क्योंकि दुनियाभर में लोग उनकी जटिल से जटिल मैथ्स एक्वेशन कुछ ही सेकंड्स में सॉल्व कर देने वाली सुपर ह्यूमन क्वालिटी से परिचित थे।

अमेज़न ने शेयर की विद्या बालन की छोटी वीडियो क्लिप

अमेज़न ने एक छोटी सी वीडियो क्लिप रिलीस की है जिसमें विद्या एक कांप्लेक्स मैथेमैटिकल फार्मूला ऑडियंस को समझाती हुई दिखाई दे रहीं हैं। और विद्या के पीछे एक ब्लैकबोर्ड हैं जिसमे वही सवाल चॉक से लिखा हुआ है।

ये रिक्रिएशन है शकुंतला देवी के एक मोमेन्ट का

ये शकुंतला देवी का सबसे ज़्यादा प्रसिद्ध इंसिडेंट है। 1977 में यूनिवर्सिटी ऑफ डलास के एक मीट में शकुंतला देवी से 201 का 23वा रुट कैलकुलेट करने को दिया गया था।

कहा जाता है कि जब उन्हें यह equation दिया गया तो कमरे में सन्नाटा छा गया। 50 सेकंड बाद सबको हैरान करते हुए शकुंतला देवी ने डिजिट बाय डिजिट जवाब देना शुरू किया।

इस छोटे वीडियो में मैथेमैटिकल प्रॉब्लम बताती हुईं विद्या इसका जवाब कुछ ही सेकण्ड्स में दे रही हैं। जवाब है फ़िल्म की रिलीस डेट।

ये इंसिडेंट जो रीक्रिएट किया गया है वो एक तारीफ है उस मोमेंट की जो शकुंतला देवी ने अपनी ज़िन्दगी में फेस किया था। कहा जाता है कि शकुंतला देवी ने उस समय के कंप्यूटर्स से भी जल्दी सारे सवाल हल कर दिए थे।

“कंप्यूटर ने अभी तक जवाब नहीं दिया?”

विद्या बालन के इस शार्ट वीडियो में वो आखिरी में कहती हैं, “क्या हुआ? कंप्यूटर ने अभी तक जवाब नहीं दिया?” इससे हमारी एक्सपेक्टेशन और एक्साइटेडनेस फ़िल्म के लिए और बढ़ जाती है।

शकुंतला देवी की ज़िंदगी अचिवमेंट्स से भरी

राइटर, मथेमैटिशन और जेंडर इक्वलिटी की वकील का कॉम्बिनेशन शकुंतला देवी की लाइफ और अचिवमेंट्स अभी तक दुनियाभर में लोगों को प्रेरित करतीं हैं।

देखना ये है कि क्या ये फ़िल्म शकुंतला देवी जैसी सुपरवुमन की ज़िन्दगी और लिगेसी को उसी लेवल तक दिखाने में कामयाब होती है कि नहीं।

और पढ़िए- आइये जाने विद्या बालन की पाँच सबसे ख़ास भूमिकाओं को

Email us at connect@shethepeople.tv