टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

Skinny Shaming: स्किनी शेमिंग क्या है और क्या यह ठीक है? 

Skinny Shaming: स्किनी शेमिंग क्या है और क्या यह ठीक है? 
SheThePeople Team

14 Oct 2021


हमारे समाज में शरीर के वजन के हिसाब से व्यक्ति को सुंदर माना जाता है को अक्सर एक आदर्श शरीर को रिप्रेजेंट करता है। एक ऐसा शरीर जो न तो बहुत मोटा होता है और न ही बहुत पतला। जो वास्तव में, यह ज्यादातर महिलाओं के लिए मौजूद नहीं है। आज भी हमारे समाज में हर दूसरी लड़की का उसके वजन की वजह से मजाक उड़ाया जाता है और यह केवल घर के बाहर ही नहीं बल्कि घर के अंदर भी होता है। 

जब हम बॉडी शेमिंग के बारे में सोचते हैं यां बात करते हैं, पहली चीज जो हमारे दिमाग में अति हैं वो है एक व्यक्ति जिसको भारी शरीर के लिए शर्मिंदा किया जाता है। बहुत सारे लोग हैं जिन्हें पतले होने के वजह से शर्मिंदा किया जाता है। बॉडी शेमिंग सभी प्रकार के लिए अनएक्सेप्टेबल है।

क्या हैं स्किनी शेमिंग ? 

स्किनी शेमिंग अर्थ है किसी व्यक्ति का मजाक उड़ाना कि वे कितने पतले हैं। यह सबसे पहले आपके खुद के घर से शुरू होता है और जब एक लड़की बाहर जाति है तब उससे बहुत सी बातें बोली जाती है। जैसे घर पर रिश्तेदार और माता पिता कहते हैं, "क्या कुछ खाने को नहीं मिलता?,लोग उम्र के साथ मोटे होते हैं और तु पतली होती जा रही है, और सबसे फेमस शादी के बाद बड़ी दिक्कतें आयेंगी"। जब लड़की बाहर जाति है तो लोग कहते हैं कि, "ये लड़की तो बिल्कुल ख़तम हो गई है, ये तो मुझसे भी पलटी है," यह कुछ कॉमेंट्स जो हर पतली लड़की ने अपने जीवन में कभी ना कभी सुने होंगे। 

क्या स्किनी शेमिंग करना ठीक है? 

किसी भी प्रकार की बॉडी शेमिंग करना अनुचित है। जो व्यक्ति बॉडी शेमिंग (फिर चाहे वो स्किनी शेमिंग हो यां फेट शेमिंग) का शिकार होता है सिर्फ उन्हें ही इसका दुख और इसके प्रभाव को झेलना पड़ता है। उनके मानसिक और भावनात्मक स्थिति पर काफी असर पड़ता है जिसका लोगों को कोई अंदाज़ा भी नहीं होता। बॉडी शेमिंग की वजह से बहुत से लोग डाइट करने लगते हैं, ज्यादा खाने लगते हैं जिसकी वजह से उनके स्वस्थ पर असर पड़ता है। लोगों को लगता है कि हर इंसान को सोसाइटी के परफेक्ट बॉडी टाइप में फिट होना चाहिए इसलिए उन्हें लगता है कि उनका बार बार बोलना शायद उन्हें प्रोत्साहित करेगा और वो अपने वेट को बढ़ाने के लिए कुछ करेंगे।

सच यह है की लोग भुल जाते हैं कि हर व्यक्ति का शरीर अलग होता है और अलग तरह से काम करता है। इसलिए बार बार किसी को एक ही बात बोलना उनकी सेहत को प्रभावित कर सकती है जिसकी वजह से स्ट्रेस, एंजाइटी और खुद पे भरोसा और खुद से प्यार कम होने लगता है। 

क्या स्किनी शेमिंग से लड़ा जा सकता है? 

स्किनी शेमिंग से लड़ने के लिए सबसे पहले आपको खुद से प्यार करना सिखना होगा। लोग तो कॉमेंट्स, ताने मारेंगे लेकिन अगर आप अपने आप से और अपनी बॉडी से प्यार करते होंगे तो इनके कॉमेंट्स का आप पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हम सभी अपने तरीके से खूबसूरत हैं और लोगों की राय सुनकर आपको वह करने से नहीं रुकना चाहिए जिससे आपको खुशी मिलती है।

जब भी कोई आपकी बॉडी के बारे में कुछ भी बोल तो आपको ख़ामोश नहीं रहना चाहिए, हमेशा उनको पलट कर प्यार से जवाब देना चाहिए और उनकी गलती का ऐहसास दिलाना चाहिए। साथ ही अगर आप किसी और को स्किनी शेमिंग का शिकार होते देखें तो उनका साथ दे और एक साथ उस स्थिति का सामना करें। 

आपकी ऊंचाई, वजन, उम्र, आकार, विशेषताओं से कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंंकि आपका दिल और मानसिकता से आपके बारे में पता लगता है की आप कितने प्योर और अच्छे हैं। 


अनुशंसित लेख