Things Women Need Freedom From: किन चीजों के लिए भारतीय महिलाएं आज भी आजादी चाहती हैं? 

Things Women Need Freedom From: किन चीजों के लिए भारतीय महिलाएं आज भी आजादी चाहती हैं?  Things Women Need Freedom From: किन चीजों के लिए भारतीय महिलाएं आज भी आजादी चाहती हैं? 

SheThePeople Team

08 Oct 2021


Things Women Need Freedom From:  इस देश में पूर्ण स्वतंत्रता के लिए महिलाएं अभी भी बहुत पीछे हैं। देश के कई हिस्सों में अभी भी महिलाओं को परेशान, अबडक्टेड, अपहरण, बलात्कार किया जा रहा है और हत्या कर दी जाती है (अक्सर उनके पैदा होने से पहले भी)। यह हमारे देश की हकीकत है। हमारा देश स्वतंत्र है, लेकिन हमें अभी भी एक ऐसे समाज को बनाने के लिए एक लंबा रास्ता तय करना है जहां महिलाएं वास्तव में स्वतंत्र होने का दावा कर सकें। यहां कुछ चीजें हैं जिनसे भारतीय महिलाओं को आजादी चाहिए ताकि वे खुद को आजाद और स्वतंत्र कह सकें। 

4 चीजें जिनसे महिलाओं को आजादी चाहिए: Things Women Need Freedom From


1. जो चाहूं वो पहनने की आजादी

हम में से बहुतों के लिए हमारे कपड़े, हमारे एक्सप्रेशन है को हम कौन हैं बताते हैं। हम सभी अपने तरीके से खूबसूरत हैं और हमें इसे याद रखने की जरूरत है। आपके कपड़े आपकी सेल्फ-एक्सप्रेशन के बारे में बताते हैं। हम एक ऐसे समाज में रहते हैं जहां दूसरों के कपड़ों पर लोग कॉमेंट पास और उनके बारे में राय बना लेते हैं। मनुष्य बहुत समय इस बात की चिंता में निकाल देता हैं कि दूसरा उनके बारे में क्या सोच रहा, उसकी राय उनके बारे में क्या है, लेकिन हकीकत में लोगों की राय मायने नहीं रखती है और आपके कोई और क्या सोचता है, इसकी परवाह करना बंद करें और वही पहनें जो आपको अच्छा लगे।

2. मन की बात कहने का अधिकार

कई बार जो महिलाएं बोलने और अपने राइट टू एक्सप्रेशन की रक्षा करने के लिए सक्षम होती हैं उन्हें हमारे समाज में आज्ञाकारी लड़कियां नहीं माना जाता। हर एक व्यक्ति को हमारा संविधान हक देता अपनी बात को सबके सामने बिना किसी की रोक टोक के रखने और बोलने का। पर क्यों आज भी लड़कियों को डराया और धमकाया जाता है जो अपने और दूसरों के लिए आवाज़ उठाती हैं। हमें हमारे देश, समाज में ये अधिकार पूर्ण रूप से चाहिए ताकि कोई भी लड़की अपनी आवाज़ उठाने से आज़ादी चाहिए। 

3. शादी और मदरहूड के दबाव से मुक्ति

शादी और मां बनने को हमारे समाज में बहुत एहमियत दी जाती है। हमारे देश हजारों लड़कियां ऐसी भी हैं जो शादी ही नहीं करना चाहती और कुछ मां नहीं बनना चाहती, हमे उनके निर्णय का सम्मान करना चाहिए। हर व्यक्ति को उसका जीवन जीने का अधिकार होता है लेकिन हमारे समाज के लोगों को उस अधिकार को लोगों से छीनने में आनंद आता है क्योंंकि दूसरों के जीवन में सब कुछ समाज के निर्धारित गतिविधियों के हिसाब से ही होना चाहिए। शादी और बच्चे ना करने के कई कारण हो सकते हैं, एक व्यक्ति अपने जीवन में किन परिस्थितियों से गुजरता है उसका कोई अंदाज़ा भी नहीं लगा सकता इसलिए सबको उनके हिसाब से जिंदगी जीने दीजिए। 

4. जो कुछ भी मैं करना चाहती हूं उसे करने की आजादी

महिलाओं को अपने फलते-फूलते करियर को छोड़ने के लिए मजबूर किया जाता है। इसके अनेक कारण हो सकते हैं लेकिन सबसे ज्यादा शादी के लिए यां शादी के बाद। महिलाओं को अक्सर अपने सपनों को पूरा करने से रोक दिया जाता है। महिलाओं को ना केवल सपनों के लिए बल्कि बाहर जाने से, पुरुष दोस्तों के साथ घूमने से, यहां तक कि अपना लाइफ पार्टनर चुनने का भी अधिकार नहीं दिया जाता। महिलाओं को इससे आजादी की जरूरत है एक बेहतर कल के लिए। 







अनुशंसित लेख