Yoga For Pregnant Ladies: क्या प्रेगनेंसी में योग करना चाहिए ? जानिए प्रेगनेंसी में योग के फायदे

Yoga For Pregnant Ladies: क्या प्रेगनेंसी में योग करना चाहिए ? जानिए प्रेगनेंसी में योग के फायदे Yoga For Pregnant Ladies: क्या प्रेगनेंसी में योग करना चाहिए ? जानिए प्रेगनेंसी में योग के फायदे

SheThePeople Team

10 Aug 2021


Yoga for pregnant ladies - हाल ही में नई मॉम बनी करीना कपूर ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर योग करते हुए फोटो डाली और बताय कि कैसे उनकी दोनों ही प्रेगनेंसी में योग से उन्हें कितनी मदद मिली है। प्रेगनेंसी के ये नौ महीने बहुत नाज़ुक होते हैं। चाहे जो भी काम आप करें फिर चाहे योग का अभ्यास हो, एक्सरसाइज करनी हो, खानपान हो, दवाओं का सेवन हो, हर चीज में खास सावधानी बरतने की जरूरत होती है।हर प्रेग्नेंट महिला (Pregnant women) को अपनी शरीर और प्रेग्नेंसी कॉम्प्लिकेशंस को ध्यान में रखते हुए ही योगाभ्यास करना चाहिए।

बॉडी में होता है फिजिकल और मेन्टल चेंज

योग करना नार्मल बॉडी के लिए फायदेमंद होता ही है लेकिन अगर आपके अंदर एक नन्हीं जान पल रही हो तो उस समय अपनी हेल्थ का ख्याल रखना और भी ज्यादा जरुरी हो जाता है। योग ना सिर्फ हमारे बॉडी में फिजिकल बदलाव करता है बल्कि योग से हमे एक अलग तरह कि शांति और मेन्टल पीस का अनुभव भी होता है।

प्रेगनेंसी के सफर में योग का साथ

प्रेगनेंसी के दौरान हार्मोंन्स में बदलाव होता है साथ ही समय बीतने के साथ ही आपके पेट में पल रहा बच्चा हिलने-डुलने भी लगता है जिसके कारण आपको नींद आने में भी समस्या होती है। नींद पूरी नहीं होने के कारण आपको थकान महसूस हो सकती है। चौथे महीने से योग करना प्रेगनेंसी में सही माना गया है। बता दें कि योग ना सिर्फ प्रेगनेंसी में बल्कि इस बाद भी बहुत मददगर साबित होता है। इससे आपका वजन नियंत्रित रहता है ओर आपके फिगर ख़राब होने के चान्सेस कम होते हैं साथ ही बेबी भी हेल्थी होता है।

प्रीनेटल योग से दूर होती है मॉर्निंग सिकनेस

प्रेगनेंसी के दौरान हमारे बॉडी में बहुत सारे changes आते हैं। हॉर्मोन्स भी बैलेंस भी रहते और तबियत जब तब ख़राब होती रहती है। जायदातर प्रेग्नेंट लेडीज में मॉर्निंग सिकनेस कि शिकायत रहती है जिसको किसी दवा कि मदद से दूर नहीं किया जा सकता। लेकिन योग कि मदद से इस तरह कि तमाम हार्मोनल changes को कण्ट्रोल किया जा सकता है।

डिलीवरी में होती है आसानी Yoga for pregnant ladies

जो भी महिला प्रेगनेंसी के शुरआती 5 महीनों में योग शुरू कर देती हैं उनकी बॉडी डिलीवरी के लिए धीरे धीरे खुद को एडजस्ट करने लगती है। कमर दर्द, पैरों का सूज जाना , सर भरी लग्न और मिचली आने जैसी समस्याओं से राहत तो मिलती ही है साथ कि नार्मल डिलीवरी के चान्सेस बढ़ जातें हैं। प्रेग्नेंसी में योग करने से नॉर्मल डिलीवरी होने की संभावना अधिक रहती है। इससे सीजेरियन डिलीवरी से होने वाले नुकसान से आप बच सकती हैं।Yoga for pregnant ladies Yoga for pregnant ladies Yoga for pregnant ladies

 


अनुशंसित लेख