युवा वर्ग को “कंसेंट” के बारे में क्या जानकारी होनी चाहिए?

Published by
Hetal Jain

सबसे पहले यह जानना ज़रूरी है की आप कंसेंट से क्या समझते हैं। अक्सर हम कंसेंट को सेक्स के साथ एसोसिएट कर देते हैं। पर कंसेंट का अर्थ इससे कहीं ज्यादा ब्रॉडर है। कंसेंट का मतलब है आपकी परमिशन, सहमति, रज़ामंदी। इसका मतलब है खुद के और दूसरों की चॉइसेस का आदर करना। युवा वर्ग कंसेंट

युवाओं को कंसेंट की जानकारी इन कारणों से ज़रूरी है

1) आपका कंफर्टेबल होना ज़रूरी है

कंसेंट का सबसे इंपोर्टेंट प्वाइंट यह है कि आप जो भी कर रहे हैं उसमें आप कंफर्टेबल हो, खुश हो। अगर आपको किसी भी वक्त लगता है कि आप कंफर्टेबल और अच्छा महसूस नहीं कर रहे, तो आपको पीछे हटने का पूरा हक है। इसी के साथ यह भी ज़रूरी है कि आपका पार्टनर भी सेम टाइम पर आपके साथ कंफर्टेबल हो।युवा वर्ग को कंसेंट

2) स्कूल लेवल पर शिक्षा ज़रूरी

इनिशियल स्कूल ईयर्स में यह सीखना आवश्यक है कि एक – दूसरे की पर्सनल बाउंड्रीज को केसे समझे और साथ ही उनका आदर करें। जैसे कि हम यह सीखा सकते हैं की हम अपने खिलौने शेयर करना चाहिए या नहीं, हमें किसको गले लगाना है और किसे नहीं। जब बच्चे थोड़े बड़े हो जाए तो उन्हें फिर पब्लिक और प्राइवेट बॉडी पार्ट्स के बारे में और गुड टच एवं बैड टच के बारे में भी बताएं।

3) टीनेज पर ये शिक्षा दें

जब बच्चे टीनेज में पहुंचे तब उन्हें इंटिमेट और सेक्सुअल सिनेरियो को डिफरेंट एंगल्स से बताएं। तब उन्हें कंसेंट और उससे जुड़ी बातें कहें। उन्हें ये बताएं कि यह बात उनके सोशल मीडिया यूसेज पर कैसे प्रभाव डालती है। यंग स्टूडेंट्स का यह सीखना आवश्यक है कि कोई भी सैक्सुअल एक्टिविटी किसी के साथ होती है, नाकि किसी पर।युवा वर्ग को कंसेंट

4) ना कहना भी सीखिए

कंसेंट का ये मतलब नहीं है कि अगर आपके पार्टनर ने एक बार हाँ कही है तो वे दूसरी बार भी उसके लिए तैयार हैं। अगर आप सेक्स के लिए तैयार नहीं है तो आपको ना कहने का पूरा राइट है। कई बार पीयर प्रेशर या फ्लेक्स कल्चर के कारण बच्चे इसका शिकार भी बन जाते हैं। इसलिए इसे पूरी तरह समझें और फिर ही कोई कदम उठाएं।

5) अपने पार्टनर की राय जाने

कंसेंट का यह भी मतलब नहीं है कि आपका जो जी आए आप वो करें जब तक आपका पार्टनर नो न कहे। हर कोई चाहेगा कि उनका पार्टनर सेक्शुअल इंटरकोर्स के दौरान उनके साथ एंथूसिएस्टिकली इन्वॉल्व हो। आपको आपके पार्टनर की बॉडी लैंग्वेज पढ़नी आनी चाहिए। आपको ये पता होना चाहिए कि आपका पार्टनर उस एक्टिविटी को एंजॉय कर भी रहा है या नहीं। युवा वर्ग कंसेंट

Recent Posts

क्रिस्टीना तिमानोव्सकाया कौन हैं? क्यों हैं यह न्यूज़ में?

एथलीट ने वीडियो बनाया और इसे सोशल मीडिया पर साझा करते हुए कहा कि उस…

4 mins ago

लखनऊ कैब ड्राइवर मारपीट वीडियो : DCW प्रमुख स्वाति मालीवाल ने UP पुलिस से जांच की मांग की

लखनऊ कैब ड्राइवर मारपीट वीडियो मामले में दिल्ली महिला आयोग (DCW) की प्रमुख स्वाति मालीवाल…

46 mins ago

स्टडी में सामने आया कोरोना पेशेंट के आंसू से भी हो सकता है कोरोना

कोरोना की दूसरी लहर फिल्हाल थमी ही है और तीसरी लहर के आने को लेकर…

1 hour ago

रियल लाइफ चक दे! इंडिया मूमेंट : भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफइनल में पहुंच कर रचा इतिहास

गुरजीत कौर के एक गोल ने महिला टीम को ओलंपिक खेलों में अपने पहले सेमीफाइनल…

2 hours ago

मेरी ओर से झूठे कोट्स देना बंद करें : शिल्पा शेट्टी का नया स्टेटमेंट

इन्होंने कहा कि यह एक प्राउड इंडियन सिटिज़न हैं और यह लॉ में और अपने…

4 hours ago

नीना गुप्ता की Dial 100 फिल्म के बारे में 10 बातें

गुप्ता और मनोज बाजपेयी की फिल्म Dial 100 इस हफ्ते OTT प्लेटफार्म पर रिलीज़ हो…

5 hours ago

This website uses cookies.