आप अपने पार्टनर के साथ इंटिमेट हो रही है। अब यह पेनिट्रेशन का समय है और आप अपने पार्टनर को कॉन्डम पहनने को बोलती हैं परंतु वह कहता है, “कॉन्डम पहनकर फील नहीं आती”, “मैं हार्ड नहीं रह सकता अगर मैं कॉन्डम पहनता हूं तो”, “मैं HIV नेगेटिव हूं, तुम्हें कुछ नहीं होगा” और ना जाने क्या-क्या। इमरजेंसी पिल्स के साइड इफेक्ट्स

ऐसे में आपको क्या करना चाहिए? महिलाओं को यह समझना होगा कि उनकी सेफ्टी उनके पार्टनर के प्लेजर से ज्यादा जरूरी है। कॉन्डम ही ऐसा इकलौता तरीका है, जो आपको सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन और एचआईवी से बचा सकता है।

कॉन्डम पुरुषों के पेनिस पर शीथ या कवरिंग की तरह काम करता है। यह उनके स्पर्म्स को वजाइना में जाने से रोकता है, जोकि STIs के साथ-साथ प्रेगनेंसी को भी प्रिवेंट करता है।

सेक्स के दौरान प्लेजर की शिकायत को कैसे दूर करें?

सेक्स करते वक्त बहुत सारा लुब्रिकेंट इस्तेमाल करने से न केवल रफनेस और ड्राइनेस दूर होती है, साथ ही थ्रस्टिंग की वजह से आपको वैजाइना में जो कट और इरिटेशन होगा वह भी कम हो जाएगा। बहुत सारा लुब्रिकेंट यूज करने से कॉन्डम भी नहीं टूटता।
कॉन्डम सबसे बेस्ट और सबसे सस्ता कांट्रेसेप्शन का मेथड है। इसके अलावा आप किस कांट्रेसेप्शन का इस्तेमाल कर रहे हैं? कहीं आप हर बार सेक्स के बाद इमरजेंसी पिल्स का इस्तेमाल तो नहीं कर रहे?

इमरजेंसी पिल्स इस्तेमाल करने के short-term साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

• जी मिचलाना और उल्टी आना
• चक्कर आना
• थकान लगना
• सिर दर्द
• ब्रेस्ट टेंडरनेस
• पीरियड्स के बीच में ब्लीडिंग
• बहुत हैवी ब्लीडिंग
• पेट के निचले हिस्से में दर्द या क्रैंप्स

इमरजेंसी पिल्स इस्तेमाल करने के long-term साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

• हाई ब्लड प्रेशर
• हृदय रोग का खतरा
• डायबिटीज

आपको इमरजेंसी पिल्स का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि आगे चलकर इससे आपकी हेल्थ पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ सकता है। अपनी गाइनेकोलॉजिस्ट से बात करे बिना कोई भी पिल्स ना लें।

** Disclaimer – यह सार्वजनिक रूप से एकत्रित की हुई जानकारी है। यदि आपको किसी विशिष्ट सलाह की आवश्यकता है, तो कृपया डॉक्टर से परामर्श करें।

Email us at connect@shethepeople.tv