भारत में अभी भी सेक्स एजुकेशन को स्कूल करिकुलम का हिस्सा नहीं बनाया गया है। इसलिए शायद हम में से कई लोग अभी भी इंटरनेट की सुविधा से इस विषय की जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करते हैं। सच तो यह है कि किसी ने समय निकालकर, हमारे साथ बैठ कर हमें बताया ही नहीं कि सच क्या है और झूठ क्या।

बेसिक सेक्स एजुकेशन की जानकारी सभी को होनी ही चाहिए। आइए जानें कि क्या आप इन सवालों के जवाब जानते हैं –

प्रश्न 1 – हमारी बॉडी में एग्स कहां फर्टिलाइज (fertilize) होते हैं?

हमारे शरीर में एग्स प्रोड्यूस तो ओवरीज में होते है परंतु वे फर्टिलाइज होते हैं फैलोपियन ट्यूब में। महिला के शरीर में बहुत सारे एग्स बनते हैं। परंतु उनमें से एक अंडा दूसरे के मुकाबले ज्यादा बड़ा हो जाता है और वह ओवरी से निकलकर फैलोपियन ट्यूब में स्पर्म का इंतजार करता है। जब सेक्स के बाद स्पर्म फेलोपियन ट्यूब तक पहुंचने में सफल हो जाता है, तब फैलोपियन ट्यूब में ही एग फर्टिलाइज होता है।

प्रश्न 2 – स्पर्म कहां पर स्टोर होता है? बेसिक सेक्स एजुकेशन

स्पर्म को स्क्रोटम में संग्रहित किया जाता है। पुरुषों के शरीर में स्क्रोटम के अंदर दो अंग होते हैं जिन्हें टेस्टिकल्स (testicles) कहते हैं। वे स्पर्म को प्रोड्यूस करते हैं।

प्रश्न 3 – क्या स्पर्म और सीमन दोनों का मतलब एक ही होता है?

स्पर्म वो माइक्रोस्कोपिक सेल्स हैं जो एग्स को फर्टिलाइज करते हैं। सीमन के अंदर स्पर्म होते हैं और लिक्विड होता है जिसके अंदर स्पर्म फ्लोट करते हैं। तो स्पर्म और सीमन दोनों अलग होते हैं।

प्रश्न 4 – प्यूबर्टी के दौरान लड़कों के शरीर में क्या बदलाव आते हैं?

प्यूबर्टी के दौरान लड़कों के शरीर में वजन और लंबाई का बढ़ना, प्यूबिक हेयर का विकास होना, सेक्सुअल अराउज़ल होना आदि। साथ ही रात में सोते समय वेट ड्रीम्स (Wet Dreams) आना, जिसे स्लीप ऑर्गैज्म भी कहते हैं। नींद में सेक्शुअल सपने देखने पर होने वाले डिस्चार्ज को स्लीप ऑर्गैज्म कहते हैं।

प्यूबर्टी की शुरुआत में इरेक्शन (erections) महसूस होने लगते हैं। यह तब होता है जब ब्लड पेनिस तक पहुंचने लगता है और उसे बड़ा और कठोर बना देता है।

प्रश्न 5 – कौनसा बर्थ कंट्रोल मेथड 100% इफेक्टिव होता है?

यहां पर आपका यह जानना जरूरी है कि कोई भी बर्थ कंट्रोल मेथड 100% इफेक्टिव नहीं होता है। चाहे आप हार्मोनल पिल्स ले लीजिए या कंडोम, सभी प्रकार के कंट्रेसप्शन में प्रेग्नेंट होने की संभावनाएं रहती ही है।

एब्सटीनेंस ही 100% बर्थ कंट्रोल मेथड है। यह ऐसा तरीका है जिसमें आप किसी भी प्रकार का सेक्स (ओरल, वजाइनल, एनल) ना करने का निर्णय लेते हैं। एब्सटीनेंस से आप आपको प्रेग्नेंट होने से बचाता है क्योंकि वह सीमन को वजाइना में जाने का मौका ही नहीं देता। सेक्सुअल इंटरकोर्स के बिना स्पर्म एग को फर्टिलाइज नहीं कर सकता।

प्रश्न 6 – कौनसी STD है जो क्युरेबल है?

HIV, हर्पिज, हेपेटाइटिस-बी आदि ऐसी STDs है जो क्युरेबल नहीं है। केवल गोनोर्हिया ही ऐसी STD है जिसे क्योर किया जा सकता है।

अब समय आ गया है कि सेक्स एजुकेशन को लेकर जो टैबू है उसे हम हटा दें और इस विषय पर हम खुलकर बात करें। इस विषय पर हमें जितनी अधिक जानकारी होगी, हम उतना ही हेल्दी और सेफ रहेंगे।

Email us at connect@shethepeople.tv