वैक्सीनेशन क्या है? वैक्सीनेशन एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा आपके शरीर में एक जीवाणु (जर्म) को डाला जाता है, ताकि आपका शरीर इसके विरुद्ध रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकें। यह एक छोटे फायर ड्रिल की तरह शरीर को दी जाने वाली ट्रेनिंग होती है। ताकि बाद में जब कोई वायरस या बैक्टीरिया हमारे शरीर में घुसने की कोशिश करें, तो हमारा शरीर उससे लड़ने के लिए तैयार हो और उसे कोई जानलेवा खतरा ना हो।

इस छोटी-सी ड्रिल या ट्रेनिंग का मकसद यही है कि आपकी बॉडी के अंदर की क्षमता को इतना बढ़ाया जाए, कि बाद में कोई कैलेमिटी या खतरा आने पर भी आपकी बॉडी उससे लड़ने के लिए सक्षम हो और कम से कम शरीर को नुकसान हो।

इसी तरह से, वैक्सीन भी किसी इंफेक्शन या वायरस को हमारे शरीर में घुसने से नहीं रोक सकता। लेकिन उसका काम ही है, हमारी इम्यूनिटी को बहुत मजबूत करना। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने से हमारा शरीर उस वायरस या इंफेक्शन से लड़ने में सक्षम हो जाता है और शरीर को कम से कम क्षति पहुंचती है।

महिलाओं में वैक्सीनेशन एक बहुत अलग और आवश्यक मुद्दा है। आइए जाने क्यों?

1. यदि हमारे शरीर की बनावट या उसकी रचना को देखा जाए, तो पुरुषों के मुकाबले महिलाएं को किसी भी वायरस का इन्फेक्शन से ज्यादा खतरा है।

2. प्रेगनेंसी से पहले और प्रेगनेंसी के दौरान भी कुछ अलग-अलग वैक्सीन महिलाओं को लगाए जाते हैं, जो कि एक हेल्दी और अच्छी प्रेग्नेंसी के लिए जरूरी भी है।

3. प्रेगनेंसी के दौरान या प्रेगनेंसी से पहले भी कुछ वैक्सीन महिलाओं के लिए उपयुक्त या सूटेबल नहीं होती हैं।

ऐसे में यह और भी जरूरी हो जाता है कि सभी महिलाओं को वैक्सीन के बारे में आवश्यक जानकारी हो और वे समय अनुसार इन वैक्सीन का लाभ ले सकें।

**उपर्युक्त सभी जानकारी डॉक्टर सुदेशना रे द्वारा दी गई है। वे एक सीनियर गयनेकोलॉजिस्ट है।

Email us at connect@shethepeople.tv