न्यूज़

ब्रेन डेड महिला के परिवार ने उसके अंग दान किए, चार लोगों की जान बची

Published by
Ayushi Jain

ब्रेन डेड महिला अंगदान : दिल्ली की 43 वर्षीय एक ब्रेन डेड महिला के परिवार ने उसके अंगदान करने का फैसला किया। इस जेस्चर ने चार लोगों की जान बचाई।

रिपोर्ट्स के अनुसार 43 वर्षीय हाइपरसेंसिटिव महिला को उल्टी और तेज सिरदर्द हुआ। उसे तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता थी और उसे 20 मई, 2021 को दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल की इमरजेंसी सिचुएशन में ले जाया गया। हालांकि, महिला की हालत बिगड़ गई। डॉक्टरों ने उसके कई टेस्ट किए, और यह पता चला कि उसे गंभीर ब्रेन हैमरेज था। पुनर्जीवन के कई प्रयासों के बावजूद, उसे ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया।

इस खबर ने परिवार को बुरी तरह प्रभावित किया, क्योंकि वह परिवार में सात भाई-बहनों में इकलौती बहन थी। उनके परिवार में 21 साल का एक बेटा और उसका पति है।

परिवार तब परामर्श के लिए गया और उसके अंग दान करने का फैसला किया। वे यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि वह अपनी मृत्यु के बावजूद भी दूसरों को जीवन दे। महिला कोरोना नेगेटिव थी।

अस्पताल में सर्जिकल गैस्ट्रोएंटरोलॉजी और लीवर ट्रांसप्लांटेशन डिपार्टमेंट के सह-अध्यक्ष डॉ नैमिश एन मेहता ने कहा: “कैडवर अंगों के लिए एक बड़ी वेटिंग लिस्ट है, और कोविड -19 पान्डेमिक के साथ, अंग दान दर में उल्लेखनीय रूप से कमी आई है। सर गंगा राम अस्पताल में फ़िलहाल 179 मरीज कैडवर लीवर और 484 मरीज कैडवर किडनी ट्रांसप्लांटेशन के इंतजार में हैं। भारत में अंगदान दर 0.65 से 1 प्रति मिलियन जनसंख्या के बीच है, जबकि स्पेन में यह 35 पीएमपी और यूएसए में 26 पीएमपी तक है।

इसके तुरंत बाद, डॉ मेहता के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक टीम ने महिला के अंगों को निकाला। उसके बाद उसके लीवर को एक 58 वर्षीय व्यक्ति में ट्रांसप्लांट किया गया, जो लगभग दो साल से इंतजार कर रहा था। एक किडनी को श्री गंगा अस्पताल में ही एक मरीज में ट्रांसप्लांट किया गया, जबकि अन्य अंगों को दिल्ली एनसीआर क्षेत्र के अन्य अस्पतालों में पहुंचाया गया।

यूपी की महिला ने पांच लोगों को किया अंगदान

इस साल की शुरुआत में, उत्तर प्रदेश में एक ब्रेन-डेड महिला ने पांच लोगों को अपने अंग दान किए। 44 वर्षीय महिला ब्रेन एन्यूरिज्म से पीड़ित थी। उसके दिल, लीवर, किडनी और फेफड़ों ने मुंबई, चेन्नई और दिल्ली में रहने वाले गंभीर रूप से बीमार मरीजों को बचाया।

हाल ही में, कोलकाता में 93 वर्षीय एक महिला भारत की पहली महिला बनीं, जिन्होंने COVID-19 रिसर्च के लिए अपना शरीर दान किया।

Recent Posts

Marital Rape: बंद गेट के पीछे का सेक्सुअल वायलेंस हम इंग्नोर नहीं कर सकते हैं

एक महिला के लिए तब आवाज उठाना बहुत मुश्किल होता है जब रेप करने वाला…

14 hours ago

Ram Mandir Saree: उत्तर प्रदेश के चुनाव से पहले साड़ी पर मोदी, योगी और राम मंदिर हुए वायरल

अहमदाबाद के एक पत्रकार ने वीडियो शेयर की थी जिस में अयोध्या के थीम पर…

19 hours ago

Loop Lapeta Online Release: क्या आप लूप लपेटा फिल्म ऑनलाइन देखने का इंतज़ार कर रहे हैं? जानिए जरुरी बातें

तापसी पन्नू हमेशा से ऐसी फिल्में लेकर आती हैं जो कि महिलाओं को हमेशा एक…

20 hours ago

मुलायम सिंह की बहु BJP में शामिल हुई, अखिलेश यादव की बात पर कहा “राष्ट्र धर्म” सबसे ऊपर है

अपर्णा का कहना है कि उनको बीजेपी की नीतियां और काम करने का तरीका बेहद…

21 hours ago

अपर्णा यादव कौन हैं? मुलायम सिंह की छोटी बहु ने बीजेपी ज्वाइन की

अपर्णा यादव की शादी मुलायम सिंह के छोटे बेटे प्रतीक यादव की बहु है। इन्होंने…

21 hours ago

Gehraiyaan Trailer Release Date: दीपिका पादुकोण की गहराइयाँ फिल्म का ट्रेलर कब होगा रिलीज़

दीपिका ने बताया है कि कैसे डायरेक्टर बत्रा और संजय लीला भंसाली स्क्रिप्ट में और…

23 hours ago

This website uses cookies.