Captain Varun Singh Dead: कुन्‍नूर हादसे में एकमात्र सर्वाइवर कप्तान विरुन सिंह की हुई डेथ

Captain Varun Singh Dead: कुन्‍नूर हादसे में एकमात्र सर्वाइवर कप्तान विरुन सिंह की हुई डेथ Captain Varun Singh Dead: कुन्‍नूर हादसे में एकमात्र सर्वाइवर कप्तान विरुन सिंह की हुई डेथ

SheThePeople Team

15 Dec 2021


Captain Varun Singh Dead: दिसंबर 8 को एक खतरनाक चॉपर क्रैश हुआ था जिस में हमारे देश के 13 नौजवानो की जाने गयी थीं। इस में चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ बिपिन रावत भी शामिल थे। इस हादसे में केवल एकल जन बच पाए थे और वो हैं कप्तान वरुण सिंह।

इंडियन एयर फाॅर्स ने आज कुछ समय पहले कन्फर्म किया कि कप्तान विरुन सिंह भी अब नहीं रहा हैं। हेलीकाप्टर क्रैश में लगी चोटों के कारण से इनकी जान भी डॉक्टर्स नहीं बचा पाए।

वरुण सिंह की मौत पर प्राइम मिनिस्टर मोदी ने कहा " ग्रुप कप्तान वरुण सिंह हमारे देश को गर्व, वीरता और प्रोफेशनलिस्म के साथ सर्व किया। इनके जाने से मुझे बहुत दुःख हुआ है। इनकी सर्विस को यह देश कभी नहीं भूल सकता है।"

Captain Varun Singh Dead: कुन्‍नूर हादसे में एकमात्र सर्वाइवर कप्तान विरुन सिंह की हुई डेथ

इनका बेंगलुरु के एयर फाॅर्स कमांड अस्पताल में इलाज चल रहा था और इनको लाइफ सुप्प्पोर्ट पर रखा गया था। एक दिन पहले ही IAF ने कन्फर्म किया था कि कप्तान की हालत पहले सीरियस थी लेकिन अब यह स्टेबल हो गए हैं।

इस चॉपर में 14 लोग मौजूद थे और यह Mi-17V5 चॉपर था। यह तमिलनाडु के कुर्नूर एरिया में क्रैश हुआ था। जिस जगह यह क्रैश हुआ उस जगह के फोटोज के हिसाब से सिर्फ जंगल का कचरा और धुआँ दिख रहा था। जनरल रावत की मौत हो गयी थी अस्पताल में इलाज के दौरान।

यह क्रैश दिन में 12 बजे के करीब हुआ था और सुबह सुलुर के आर्मी बेस से निकला था और वेलिंगटन के डिफेन्स सर्विसेज कॉलेज जा रहा था। जब यह क्रैश हुआ तब आस पास के लोगों ने इसके बारे में डिफेन्स अधिकारी को बता दिया था जिसके बाद इसके बारे में सबको मालूम हुआ। 

इंडिया के पहले चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ बिपिन रावत की कल चॉपर क्रैश में डेथ हो गयी थी। इनका अंतिम संस्कार 10 दिसंबर को किया गया । यह इनकी वाइफ मधुलिका के साथ चॉपर में थे और उनकी भी इस हादसे में मौत हो गयी। इनकी डेथ के बाद सभी बेहद दुखी हैं और वो पूरे सोशल मीडिया पर साफ़ नज़र आ रहा है। प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट किया और लिखा था “यह एक सच्चे देश प्रेमी थे, इनका आर्मी को और सेक्योरिटी मोडर्नाइज़ करने में हाँथ रहा है। जिस तरीके से यह अपनी स्ट्रेटेजी और नजरिया बताते थे वो काबिले तारीफ था। इनके जाने से मुझे बेहद दुःख हुआ है। ॐ शांति “।


अनुशंसित लेख