Covid-19 Vaccine For Children: कोवैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल डाटा को सेंट्रल ड्रग्स स्टैण्डर्ड कण्ट्रोल आर्गेनाईजेशन में भेजा गया, चार वैक्सीन को मिल सकती है अप्रूवल

Covid-19 Vaccine For Children: कोवैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल डाटा को सेंट्रल ड्रग्स स्टैण्डर्ड कण्ट्रोल आर्गेनाईजेशन में भेजा गया, चार वैक्सीन को मिल सकती है अप्रूवल Covid-19 Vaccine For Children: कोवैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल डाटा को सेंट्रल ड्रग्स स्टैण्डर्ड कण्ट्रोल आर्गेनाईजेशन में भेजा गया, चार वैक्सीन को मिल सकती है अप्रूवल

SheThePeople Team

14 Oct 2021


Covid-19 Vaccine For Children: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने मंगलवार को कहा कि बच्चों के लिए कोविड-19 वैक्सीन का इवैल्यूएशन प्रगति पर है। अंतिम मंजूरी भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल द्वारा दी जाएगी। सेंट्रल ड्रग्स स्टैण्डर्ड कण्ट्रोल आर्गेनाईजेशन में कोवैक्सीन की ट्रायल डाटा को सबमिट किया जा चूका है। ये क्लीनिकल ट्रायल 2-18 साल के बच्चों को वैक्सीन लगवाने के लिए किये जा रहे हैं।

भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को बच्चों के लिए इमरजेंसी यूज़ की अथॉरिटी देनी चाहिए- विशेषज्ञ

वैक्सीन की मंजूरी देखने वाले विशेषज्ञ समूह ने मंगलवार को सिफारिश की कि भारत बायोटेक के स्वदेशी कोविद -19 वैक्सीन कोवैक्सिन को 2 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण दिया जाना चाहिए। यह सिफारिश त्योहारी सीजन से पहले और संक्रमण की संभावित तीसरी लहर पर चिंताओं के बीच बच्चों के लिए एक कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करने की दिशा में एक कदम आगे है। हालांकि, अंतिम मंजूरी अभी दी जानी बाकी है, जो कि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) द्वारा किया जाएगा। 

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने मंगलवार को कहा कि बच्चों के लिए कोविड -19 वैक्सीन का मूल्यांकन प्रगति पर है। मंत्री ने कहा, "प्रक्रिया जारी है और हम इस मामले में हस्तक्षेप नहीं करते हैं। विशेषज्ञों के साथ चर्चा के बाद आगे बढ़ेंगे।"

Covid-19 Vaccine For Children: ये चार वैक्सीन को मिल सकती है अप्रूवल


1. ZvCoV-D by Zydus Cadila

परीक्षणों के अनुरूप, ये वैक्सीन 12 और उससे अधिक ऐज ग्रुप्स में उपयोग के लिए स्वीकृत हुई। हालांकि, इसे टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में शामिल नहीं किया गया है। स्वदेशी रूप से विकसित और सुई मुक्त ZyCoV-D को दवा नियामक से EUA प्राप्त हुआ है, जिससे यह देश में 12-18 वर्ष के आयु वर्ग में प्रशासित होने वाला पहला टीका बन गया है।

2. भारत बायोटेक द्वारा कोवैक्सिन

2 साल और उससे अधिक उम्र में उपयोग के लिए इस वैक्सीन को रेकमेंड किया गया है। इस टीके को भी अभी तक टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में शामिल नहीं किया गया है।

3. बायोलॉजिकल E द्वारा कॉर्बेवैक्स

इस वैक्सीन को 5-18 साल के बच्चों पर ट्रायल के लिए मंजूरी दे दी गई है। वैक्सीन को बायोटेक्नोलॉजी विभाग और इसके पीएसयू बायोटेक्नोलॉजी इंडस्ट्री रिसर्च असिस्टेंस काउंसिल (बीआईआरएसी) के सहयोग से प्रीक्लिनिकल स्टेज से फेज 3 स्टडीज तक विकसित किया गया है।

4. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा कोवोवैक्स

इसे 2-18 वर्ष की आयु के बच्चों में परीक्षण के लिए मंजूरी दे दी गई है। यह बच्चों के लिए SII द्वारा भारत में लाए गए नोवोवैक्स वैक्सीन का इंडियन वर्जन है। कंपनी के प्रमुख अदार पूनावाला ने पिछले महीने कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि अगले साल जनवरी या फरवरी में 18 साल से कम उम्र वालों के लिए कोवोवैक्स को मंजूरी मिल जाएगी।


 

 





अनुशंसित लेख