कोरोना की वैक्सीन के आने से दुनिया भर में खुशी का माहौल है। पर साथ ही अब वैक्सीन का सही वितरण व जल्द से जल्द लोगों का वैक्सिनेशन करना सरकार के लिए नई चुनौती है। हर रोज़ वैक्सीन से जुड़ी गाइडलाइन अलग अलग वैक्सिनेशन सेंटर पर जारी की जाती हैं। जानिए कोविडशील्ड की दूसरी डोज़ पर गवर्नमेंट पैनल ने क्या कहा –

1. कोविडशील्ड की दूसरी डोज़

NTAGI पैनल ने कहा कि CoVaxin के इंटरवल में कोई बदलाव की ज़रूरत नहीं हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रेग्नेंट औरतों और लैक्टेटिंग औरतों को वैक्सीन लगने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

साथ ही NTAGI पैनल ने ये भी कहा कि ICU में भर्ती और गंभीर हालात वाले कोरोना मरीजों को 4- 8 हफ़्तों तक कोविडशील्ड की दूसरी डोज़ के लिए इंतज़ार करना चाहिए। हालांकि इन  गाइडलाइंस का NEGVA से अप्रूव होना बाकी है।NTAGI पैनल ने ये भी कहा कि कोविडशील्ड की दूसरी डोज़ 12-16 हफ़्तों के बाद ही लें।

मार्च 2021 में सभी राज्यों व यूनियन टेरिटोरी को कोविडशील्ड के दूसरे डोज़ के लिए 28 दिन का गैप रखने के निर्देश जारी हुए थे।

2. देश में वैक्सीन

भारत देश में कोविडशील्ड और CoVaxin का लगना 16 जनवरी से शुरू हो गया है। कुछ दिनों पहले एक स्टडी में कहा गया कि कोविडशील्ड की वैक्सीन कोरोना के डबल म्युटेंट वेरिएंट से भी प्रोटेक्ट करती है जो कि बहुत ही अच्छी बात है।

भारत में रोज़ कोरोना के केस काफी बढ़ रहे हैं जिसके बीच वैक्सीन का जल्दी से जल्दी तेज वितरण होना ज़रूरी है और साथ ही वैक्सीन का प्रोडक्शन भी उतना ही तेज बनाने की भी मांग है।

हाल ही में दिल्ली के मुख्य मंत्री ने केंद्र सरकार से देश में वैक्सीन का प्रोडक्शन बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि जो कंपनी वैक्सीन बना रहीं हैं उन्हें वैक्सीन का फॉर्मूला शेयर करना चाहिए ताकि और भी जगह वैक्सीन का निर्माण किया जा सके।

देश में वैक्सीन अब 18-45 उम्र के लोगों को भी वैक्सीन का इंतज़ाम शुरू हो गया है। आप भी वैक्सीन लगवाने में देरी न करें व कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान रखें।

Email us at connect@shethepeople.tv