Dabur Withdraws Same Sex Karwachauth Ad: डाबर ने करवाचौथ पर सेम सेक्स के ऊपर एड बनाया था, विरोध के कारण एड हटाया गया

Dabur Withdraws Same Sex Karwachauth Ad: डाबर ने करवाचौथ पर सेम सेक्स के ऊपर एड बनाया था, विरोध के कारण एड हटाया गया Dabur Withdraws Same Sex Karwachauth Ad: डाबर ने करवाचौथ पर सेम सेक्स के ऊपर एड बनाया था, विरोध के कारण एड हटाया गया

SheThePeople Team

26 Oct 2021

Dabur Withdraws Same Sex Karwachauth Ad -जब भी कोई ब्रांड अलग और हटकर एड के साथ आती है उसका जमकर विद्रोह किया जाता है इसके कारण से उन्हें अंत में हमेशा एड हटाना पड़ता है और माफ़ी मांगनी पड़ती है। इस बार ऐसा डाबर कंपनी के साथ हुआ है। यह सेम सेक्स को लेकर इस करवाचौथ पर एड लेकर आये थे जो लोगों को कुछ खास पसंद नहीं आया था।

https://twitter.com/DaburIndia/status/1452564874811244550?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1452564874811244550%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.thequint.com%2Fneon%2Fsocial-buzz%2Fdabur-withdraws-same-sex-couple-ad-karwa-chauth-amid-criticism

क्या था डाबर का करवाचौथ एड? Dabur Withdraws Same Sex Karwachauth Ad


डाबर के इस 2021 करवाचौथ एड में इन्होंने दो लेस्बियन के ऊपर एड बनाया था। लेस्बियन मतलब होता है वो लड़की जिसको एक लड़की से ही प्यार होता है। इस एड में दो लडकियां करवाचौथ के लिए फुल अच्छे से तैयार हैं और छन्नी से एक दूसरे को देख रही हैं और साथ में करवाचौथ मना रही हैं।

सोशल मीडिया का डाबर के एड पर क्या रिएक्शन है?


इस एड को लेकर सभी जगह काफी ट्रोलिंग की गयी थी और उसके बाद फाइनली यह एड हटा दिया गया था। डाबर ने अपना एड हटाया और लिखा कि फेम का करवाचौथ कैंपेन का एड सभी सोशल मीडिया से हटा दिया गया है और हम माफ़ी मांगते हैं उन सभी से जिनको न चाहते हुए भी इस एड से ठेस पहुंची है।

https://twitter.com/Roobal_25/status/1452882572845871104?t=98osSy1frdb0sJy1Kv2eCg&s=09

एड को हटा देने के बाद कई लोग इसके सपोर्ट में बोले और कहा इस तरीके के प्रगतिशील एड को हटाने को लेकर वो कंपनी से काफी निराश हुए हैं। ऐसा सामने आ रहा है कि डाबर ने यह स्टेप मध्य प्रदेश के होम मिनिस्टर नरोत्तम मिश्रा के स्टेटमेंट के बाद लिया है। इनका यह एड डाबर की फेम ब्लीच को लेकर था और इसे बॉयकॉट करो पूरे ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है।

https://twitter.com/iKamalVeda/status/1451906266456944640?t=77Y4fYVRCZL2lkeUp-kZ4Q&s=09

https://twitter.com/Rajnish03521723/status/1452135666163191810?t=LUvtu45Sxfwfo2tgn-pc7A&s=09

https://twitter.com/ShivaniChopra_/status/1452863007646650370?t=eOfucK6tDjRlyYhGdAmGow&s=09

मिश्रा ने कहा था कि अगर यह एड नहीं हटाया जाता है तो वो इस मामले में लीगल एक्शन लेंगे। मिश्रा ने इस एड में सवाल किया कि क्यों हमेशा ब्रांड्स हिन्दू से जुड़े एड ही लेकर आते हैं उनके फेस्टिवल से जुड़े या फिर उनके ट्रेडिशन से जुड़े। लोगों का कहना है कि अगर प्रगतिशील एड लाना है तो लाओ लेकिन उस में हमेशा हिन्दू के किसी फेटिवल या रिचुअल को क्यों जोड़ा जाता है।

क्या थी फैब इंडिया कंट्रोवर्सी?


कुछ समय पहले फैब इंडिया के दिवाली एड का भी इसी तरह से विरोध किया गया था और आखिर में वह भी हटा दिया गया था। फैब इंडिया ने ने फाइनली अपने दिवाली के नए कलेक्शन का नाम हटाने का फैसला कर लिया है। ऐसा तब हुआ जब इन्होंने अपना दिवाली कलेक्शन लांच किया और पूरे सोशल मीडिया पर बवाल मच गया था।

इन्होंने अपने नए दिवाली कलेक्शन का स्टाइल, शूट और नाम एक दम मुस्लिम के तरीके से किया था। इनकी मॉडल ने ही बिंदी लगायी थी और न ही इनका हिन्दू के तरीके से लुक रखा गया था और इसके बाद इस कलेक्शन का नाम भी इन्होंने उर्दू में रख दिया था। फैब इंडिया जो कि एक कपड़ों की ब्रांड है ने भी अपना ऐसा ही एक एड बनाया दिवाली के लिए लेकिन इसका नाम इन्होंने जश्न-ए-रिवाज रख दिया।

अनुशंसित लेख