Delhi Air Quality: बच्चों को साँस लेने में तकलीफ़, AQI 418 तक पहुँचा

Rajveer Kaur
03 Nov 2022
Delhi Air Quality: बच्चों को साँस लेने में तकलीफ़, AQI 418 तक पहुँचा

दिल्ली की ऐयर क्वॉलिटी इंडेक्स फिर से 418 तक पहुँच गया है। इसका कारण पराली का जलना और गाड़ियों से पैदा हो रहा है धुँहा जिससे दिल्ली में इतना प्रदूषण बढ़ रहा है। एक बार फिर से दिल्ली की हवा जहरीली होने लगी है। दिल्ली की हवा में साँस लेना फिर से मुश्किल हो गया है जिससे वहाँ के रहने वाले लोगों को परेशानी हो रही है। इसका सीधा असर स्कूल जाने वाले बच्चों और बूढ़े लोगों पर पढ़ रहा है।

Delhi Air Quality: बच्चों को साँस लेने में तकलीफ़, AQI 418 तक पहुँचा

क्या होता है एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 
AQI एक हवा की क्वॉलिटी मापने का पैमाना है, जो 200 तक सामान्य माना जाता है। 400 से ऊपर इसको चिंताजनक माना जाता है।अब गुरुवार को दिल्ली का AQI 418 तक पहुँच गया है।सेहत विशेषज्ञों का कहना ऐसी स्थिति ख़तरनाक बीमारियों का कारण बन सकता है।

जाने AQI कैसे हवा के बारे में बताता है -
0-50-अच्छा 
51-100-संतोषजनक
101-200-सामान्य 
201-300-ख़राब
301-400-बहुत ख़राब
401-500-गंभीर

 सरकार क्या कर रही है-
-प्रदूषण पैदा करने वाले सभी कामों पर रोक लगा दी है। 
-दिल्ली में कन्स्ट्रक्शन और डिमोलिशन के सारे काम बंद
-सफ़ाई को बढ़ावा रोज़ सड़के होगी साफ़ और पानी का छिड़काव

स्कूल हो रहे बंद 
NDTV की खबर मुताबिक, दिल्ली का  प्रमुख निजी स्कूल, श्री राम स्कूल ने बिगड़ती वायु गुणवत्ता को देखते हुए दिल्ली और हरियाणा में अपनी शाखाओं में शारीरिक कक्षाएं कल के लिए स्थगित कर दी हैं। स्कूल कल ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करेगा।स्कूल ने कहा कि सोमवार से  फिर से शुरू क्लास होंगी और छात्रों और कर्मचारियों दोनों के लिए एन 95 मास्क अनिवार्य होगा।

दैनिक भास्कर से लिए गए डाटा का अनुसार, आंनद विहार में AQI 449, मुंडका में AQI 422, वजीरपुर में AQI 434, नरेला में AQI 429, बवाना में AQI 447, अलीपुर में AQI 419, अशोक विहार में AQI 433, जहांगीरपुरी में AQI 455 और इंडिया गेट AQI 419 दर्ज किया गया है। वहीं, मध्य दिल्ली में मंदिर मार्ग जैसे कुछ स्टेशनों को छोड़कर राजधानी के अधिकांश स्टेशनों में AQI 300 से ऊपर है। SAFAR के आंकड़ों के अनुसार, मॉडल टाउन के धीरपुर में AQI 457 दर्ज किया गया है। IGI एयरपोर्ट (टी3) के पास AQI भी आज 346 पर 'बहुत खराब' श्रेणी में रहा।

अनुशंसित लेख