मैसूर की पुण्या नंजप्पा इंडियन आर्मी की फाइटर पायलट बनना चाहती हैं और वो अपना सपना पूरा करने की राह पर हैं। एक साल की ट्रेनिंग पूरी कर चुकी पुण्या, अपने कोर्स की अकेली महिला कैडेट हैं जिन्होंने इंडियन एयर फ़ोर्स फ्लाइंग ब्रांच में फाइटर स्ट्रीम का चयन किया है। वो 40 कैडेट्स के साथ ट्रेनिंग कर रहीं हैं।

कर्नाटक से सेलेक्ट हुई अकेली महिला पुण्या

विजयनगर की रहने वाली पुण्या पिछले साल ट्रेनी पायलट के रूप में एयर फ़ोर्स अकादमी में सेलेक्ट हुईं थी। वो कर्नाटक की अकेली महिला हैं जो पिछले साल ट्रेनी पायलट के रूप में सेलेक्ट हुई थीं।

प्रदेश की दूसरी महिला जो फाइटर पायलट बनने वाली हैं

इंडियन एयर फ़ोर्स अकादमी, दुनदिगल, हैदराबाद में 3 चरण की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद पुण्या पायलट बनने के लिए एलिजिबल होंगी। वो प्रदेश की दूसरी महिला होंगी जो ये अचीव करेंगी। पहली महिला मेघना शानबाग हैं।

साधारण परिवार से पुण्या

अनुराधा नंजप्पा एक स्कूल टीचर और लेट कोलुवानदा पी बाला नंजप्पा, सिटी थेअटर के मैनेजर की बेटी पुण्या बचपन से फाइटर पायलट बनना चाहती थीं।

मां को बेटी पर है गर्व

पुण्या की मां अनुराधा नंजप्पा कहती हैं”फाइटर पायलट बनना कोई ऐसी वैसी बात नहीं है पर पुण्या क्लास 9 से फाइटर पायलट बनना चाहती थी। पुण्या अपना सपना पूरा कर रही है। वो अकेली लड़की थी जिसने फाइटर स्ट्रीम के लिए ऑप्ट किया। उसने सेलेक्ट होने के लिए बहुत मेहनत की।”

अपनी बेटी के अचीवमेंट्स के बारे में बताती हुईं अनुराधा नंजप्पा ने बताया कि पुण्या हारवर्ड कैम्प में सेकंड आयीं थी और उन्होंने काफी मेडल जीते हैं।

ट्रेनिंग का पहला चरण पूरा

पुण्या ने ट्रेनिंग का पहला चरण पूरा कर लिया है अब वो दूसरे और तीसरे चरण की ट्रेनिंग हक़ीमपेट में करेंगी। ये पूरी होने के बाद उनको ओपेरेशनल फ्लाइंग स्क्वाड्रन जॉइन करने के लिए कमिशन किया जाएगा।

मन मे ठान लो तो कुछ इम्पॉसिबल नहीं

पुण्या ने अकादमी जॉइन करने से पहले मैसूर नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग से डिग्री ली है। पुण्या ने एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट 2018 में दिया था जिसमे वो 2019 में सेलेक्ट हो गयीं थीं। पुण्या ने प्रूव कर दिया कि अगर मन में ठान लिया जाए जो कुछ भी अचीव करना पॉसिबल है।

और पढ़िए-मध्य  प्रदेश के चाय बेचने वाले की बेटी ने भारतीय वायु सेना अकादमी (IAF) में किया टॉप

Email us at connect@shethepeople.tv