Greta Thunberg के खिलाफ़ दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR, लोगों ने विरोध में जलाये पोस्टर्स :
दिल्ली पुलिस ने कथित तौर पर भारत के किसान आंदोलन पर किए गए ट्वीट के लिए, क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट, ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) के खिलाफ एक FIR दर्ज की है। ग्रेटा थनबर्ग की उम्र 18 साल है और वह स्वीडन में रहती हैं। थनबर्ग ने बुधवार को ट्विटर पर, भारत में चल रहे किसान आंदोलन पर ट्वीट किया। उन्होंने इस ट्वीट के ज़रिये किसानो का समर्थन किया था।

Greta Thunberg के खिलाफ़ दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR , Award-winning एक्टिविस्ट थनबर्ग पर इंडियन पीनल कोड की दो धाराओं : धारा 153A (धर्म, जाति के आधार पर दुश्मनी को बढ़ावा देना) और धारा 120B (आपराधिक साजिश) के तहत वीरवार को केस दर्ज किया गया।

विरोध में लोगों ने 18 वर्षीय ग्रेटा थनबर्ग और पॉप सिंगर रिहाना के पोस्टर्स जलाये

थनबर्ग के खिलाफ़ FIR दर्ज होने के बावजूद , वह फिर से भारत के किसानों के समर्थन में ट्वीट करने से पीछे नहीं हटी। उन्होंने एक और ट्वीट किया जिसमे उन्होंने लिखा “मैं अभी भी किसानों के साथ हूँ #StandWithFarmers और उनके शांतिपूर्ण विरोध का समर्थन करती हूँ”।

थनबर्ग पर पहले से प्लानिंग का लग रहा हैं आरोप

3 फरवरी को, थनबर्ग ने ट्वीट में कहा था: “हम भारत में हो रहे #FarmersProtest के साथ एकजुटता से खड़े हैं।” – इस ट्वीट से किसानों द्वारा चल रहे आंदोलन पर इंटरनेशनल अटेंशन मिला। रिहाना, मीना हैरिस और मिया खलीफा जैसे इंटरनेशनल हस्तियों ने भी इस मुद्दे पर अपनी आवाज़ उठाई।

बुधवार की देर शाम, थनबर्ग ने कथित तौर पर “farmers’ protest toolkit” डॉक्यूमेंट को पोस्ट करने, हटाने और फिर से पोस्ट करने से हंगामा खड़ा कर दिया। लोगों के मुताबिक़ थनबर्ग को किसान आंदोलन से सम्बंधित सीक्रेट इन्फॉमेशन मिली थी ,जो थनबर्ग ने गलती से ट्वीट कर दी। उनके अनुसार थनबर्ग का किसानों के समर्थन में ट्वीट पहले से ही डिसाइडेड था।

कई ट्विटर यूज़र्स ने दोनों दस्तावेजों के बीच महत्वपूर्ण बदलावों का दावा किया। इसके बाद #GretaThunbergExposed हैशटैग ट्विटर पर ट्रैंड करने लगा। थनबर्ग पर यह आरोप लगाते हुए कहा गया कि यह भारत को बदनाम करने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय साज़िश का हिस्सा था।

Email us at connect@shethepeople.tv