Uttar Pradesh: सबसे पहली महिला मुख्यमंत्री दी थीं उत्तर प्रदेश ने

न्यूज़ : आज उत्तर प्रदेश वासियों के लिए गर्व का दिन है कि आज के दिन उत्तर प्रदेश की स्थापना हुई थी। संपूर्ण भारतवर्ष के लिए एक गौरव की बात है उसमें उत्तर प्रदेश एक स्वतंत्र राज्य के रूप में स्थापित हुआ।

Prabha Joshi
24 Jan 2023
Uttar Pradesh: सबसे पहली महिला मुख्यमंत्री दी थीं उत्तर प्रदेश ने

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्यपाल

Uttar Pradesh Foundation Day 2023: आज उत्तर प्रदेश वासियों के लिए गर्व का दिन है कि आज के दिन उत्तर प्रदेश की स्थापना हुई थी। संपूर्ण भारतवर्ष के लिए एक गौरव की बात है उसमें उत्तर प्रदेश एक स्वतंत्र राज्य के रूप में स्थापित हुआ। आज उत्तर प्रदेश मना रहा है अपना स्थापना दिवस। 

24 जनवरी, 1950 को भारत के गवर्नर जनरल ने यूनाइटेड प्रोविन्स आदेश,1950 लागू किया था, जिसके अनुसार यूनाइटेड प्रोविन्स का नाम बदल कर उत्तर प्रदेश किया गया। तब से आज तक उत्तर प्रदेश राज्य ने बहुत से बदलाव देखे, जिसमें  9 नवंबर, 2000 को पर्वतीय क्षेत्र उत्तराखण्ड शामिल है। 2000 से पहले आज का उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश का ही भाग था जो वर्ष 2000 के बाद स्वतंत्र रूप से अलग राज्य बना।

उत्तर प्रदेश में इस समय 75 ज़िले हैं। यहां की भूमि ने बहुत-से गौरवशाली वीरांगनाओं, महिला राजनीतिज्ञों, महिला वैज्ञानिकों के साथ लगभग हर क्षेत्र में उत्कृष्ट महिलाओं को जन्म दिया है। उत्तर प्रदेश के इतिहास की बात करें तो यहां पर सबसे पहली महिला मुख्यमंत्री सुचिता कृपलानी रहीं। सुचिता कृपलानी उत्तर प्रदेश की ही नहीं देश की पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप में जानी गईं। ये देश के लिए गौरव की बात थी। मूल रूप से अंबाला में जन्मी स्वर्गीय पूर्व मुख्यमंत्री सुचिता कृपलानी ने अपना पदभार 2 अक्टूबर, 1963 को संभाला था। पूर्व मुख्यमंत्री सुचिता कृपलानी कांग्रेस पार्टी से आईं थीं। इसके बाद फिर 1995 में उत्तर प्रदेश राज्य को बहुजन समाज पार्टी की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री मायावती, महिला मुख्यमंत्री के रूप में मिलीं। इसके अलावा इस समय बहुत-सी महिला राजनेता हैं जो अलग-अलग पार्टी से पार्टी और राजनीति की क़मान संभाल रही हैं। 

इस समय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण किए हुए हैं। राज्य की राज्यपाल महिला हैं। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल गुजरात में जन्मी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल हैं। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के नेतृत्व में राज्य शैक्षणिक, आर्थिक और सामाजिक उचाईयों को बहुत तेज़ी से छू रहा है। उत्तर प्रदेश बहुत तेज़ी से विकास पर अग्रसर है। वहीं इस समय 15 से ऊपर ज़िलें है जिनकी डीएम और प्रशासनिक पदों पर महिला अफ़सर पदासीन हैं। ये राज्य के गौरव की बात है। राज्य नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा दे रहा है। 

उत्तर प्रदेश या किसी भी राज्य का स्थापना दिवस मूल रूप से उसके आर्थिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक पलों को मनाने का दिवस होता है। राज्य के विकासशील बिंदुओं पर बात होती है। उसकी विरासत और लोगों के सम्मान पर बात होती है। ख़ुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश को इस गौरवपूर्ण दिवस पर ट्विटर के जरिए बधाई दी है।

Read The Next Article