झारखण्ड में 16 साल की दलित लड़की के साथ हुआ गैंगरेप: जानिए इस घटना से जुड़ीं 10 बातें

झारखण्ड में 16 साल की दलित लड़की के साथ हुआ गैंगरेप: जानिए इस घटना से जुड़ीं 10 बातें झारखण्ड में 16 साल की दलित लड़की के साथ हुआ गैंगरेप: जानिए इस घटना से जुड़ीं 10 बातें

SheThePeople Team

22 Sep 2021


Jharkhand Teen Gangraped: दलित कम्युनिटी की एक 16 साल की लड़की के साथ 18 सितम्बर की सुबह गैंग रेप का मामला सामने आया। बताया जा रहा है कि लड़की सुबह अपने सहेलियों के साथ शौच के लिए निकली थी। युवती के साथ गैंग रेप में कथित तौर पर 5 लोग शामिल थे। बच्ची का इलाज हजारीबाग के एक अस्पताल में चल रहा है, जबकि पुलिस फरार दो संदिग्धों की तलाश कर रही है। मामले में अब तक तीन गिरफ्तारियां हो चुकी हैं।

झारखण्ड में दलित किशोरी के साथ गैंगरेप: जानिए इस घटना से जुड़ीं 10 बातें



  • पीड़िता 16 वर्षीय दलित लड़की है जो हजारीबाग जिले कि रहने वाली है। द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, उसके माता-पिता दिहाड़ी मजदूर के रूप में काम करते हैं।

  • पीड़िता 18 सितम्बर, शनिवार की सुबह तक अपने दोस्तों के साथ कर्ण पूजा मना रही थी। जिसके बाद लड़की और उसके दोस्त शौच के लिए बाहर गए।

  • शौच के लिए बहार जाते समस्य रस्ते में पीड़िता और उसके दोस्तों पर 5 लोगों ने हमला कर दिया। जब पीड़िता के दोस्त भागने में सफल रहे, तो हमलावरों ने लड़की को उठा लिया और फिर कथित तौर पर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया।

  • हालांकि, पीड़िता ने कथित तौर र घटना से जुडी कोई जानकारी नहीं दी है और न ही इस हैवानियत के बारे में कोई ब्यान दर्ज करवाया है।

  • बच्ची की माँ जब पीड़िता को लेकर अस्पताल पहुंची तब इस घटना की जानकारी पुलिस तक पहुंची।

  • गौरतलब है कि गैंगरेप की घटना के दो दिन बिट जाने के बाद पड़ता को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

  • घटना के बारें में जानकारी मिलते ही पुलिस ने पीड़िता के बयान के आधार पर 20 सितंबर को FIR दर्ज की।

  • हजारीबाग के पुलिस अधीक्षक मनोज रतन छोटे के मुताबिक इस मामले में अब तक तीन नामजद आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है और दो संदिग्धों की तलाश अभी भी जारी है।

  • इस घटना के चलते,एक बार फिर शौचालय की जरुरत पर प्रश्नचिन्ह लग गया है। गाओं में महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा के बीच स्वच्छता सुविधाओं की कमी काफी चिंताजनक हो गयी है।

  • हालांकि, छोटे ने इसे "एकमुश्त" घटना कहा है और यह भी कहा कि गांव में शौचालय उपलब्ध हैं और इस घटना का शौचालय की कमी या स्वच्छता सुविधाओं की कमी के कारण महिलाओं की सुरक्षा से समझौता होना बिल्कुल बेबुनियाद है।


 




अनुशंसित लेख