16 जनवरी 2021 से शुरू होने वाले वैक्सीनेशन  प्रोग्राम के बारे में आम जनता को सूचित करने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 जनवरी 2021 को ट्विटर पर ट्वीट किया। ट्विटर पर उन्होंने लिखा, “16 जनवरी को, भारत COVID-19 से लड़ने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाने वाला है। उस दिन से, भारत का नेशनल वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू होता है। हमारे बहादुर डॉक्टरों, हेल्थकेयर वर्कर्स, सफाई कर्मचारियों सहित फ्रंटलाइन वर्कर्स को प्राथमिकता दी जाएगी। ”

भारत में कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रोग्राम की कुछ ज़रूरी बातें

  • भारत 16 जनवरी 2021 को अपने वैक्सीनेशन को शुरू करने के लिए तैयार है।
  • इसके बारे में जानकारी सरकारी आधिकारिक साइट पर एक प्रेस रिलीज़ के माध्यम से जारी की गई थी।
  • वैक्सीनेशन की प्राथमिकता फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स को दी जाएगी।

वैक्सीनेशन प्रोग्राम में फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स को प्राथमिकता दी जाएगी, जिसमें स्वच्छता कर्मचारी भी शामिल हैं, जो लगभग 3 करोड़ हैं। स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन वर्कर्स के बाद, 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों और लौ इम्मयूनिटी वाले लोगों को टीका लगाया जाएगा। दूसरी ड्राइव में लगभग 27 करोड़ लोगों को टीका लगाया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 जनवरी को देश में COVID-19 की स्थिति का विश्लेषण करने के लिए एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की और COVID-19 वैक्सीनेशन के लिए राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की तैयारियों के साथ। कैबिनेट सचिव, प्रधान मंत्री, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सचिव और अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया।

प्रधानमंत्री ने विभिन्न मुद्दों पर COVID-19  की स्थिति की मैनेजमेंट का जायज़ा लिया । भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टिट्यूट और ऑक्सफोर्ड द्वारा कोविशिल्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल को रेस्ट्रिक्ट यूज़ के लिए अप्प्रोव किया गया है।

काफी रिसर्च के बाद, यह निर्णय लिया गया कि COVID-19  वैक्सीनेशन लोहड़ी, मकर संक्रांति, माघ बिहू, पोंगल, आदि सहित त्यौहारों के बाद 16 जनवरी से शुरू होगा।

और पढ़ें: COVID – 19 Vaccine Update : जानिए भारत बायोटेक की वैक्सीन Covaxin के बारे में 10 बातें

Email us at connect@shethepeople.tv