Jhimli Mukherjee Pandey Dies In Road Accident: सीनियर जर्नलिस्ट और ऑथर झिमली मुखर्जी पांडे का सड़क हादसे में निधन

Jhimli Mukherjee Pandey Dies In Road Accident: सीनियर जर्नलिस्ट और ऑथर झिमली मुखर्जी पांडे का सड़क हादसे में निधन Jhimli Mukherjee Pandey Dies In Road Accident: सीनियर जर्नलिस्ट और ऑथर झिमली मुखर्जी पांडे का सड़क हादसे में निधन

SheThePeople Team

30 Dec 2021


Jhimli Mukherjee Pandey Dies In Road Accident: टाइम्स ऑफ इंडिया (टीओआई) के साथ काम करने वाली एक सीनियर जर्नलिस्ट और कई पुस्तकों के लेखक झिमली मुखर्जी पांडे की 29 दिसंबर, 2021 को जैसलमेर के पास एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई। 49 वर्षीय झिमली कोलकाता में काम करती थी और अपने परिवार के साथ छुट्टी पर थी। ड्राइवर, झिमली का बेटा और उसकी मां को चोटें आईं लेकिन वे खतरे से बाहर थे; उनके साथ उनके पति रमेश पांडे भी घायल नहीं हुए।

Jhimli Mukherjee Pandey Dies In Road Accident: कार दुर्घटना जैसलमेर-जोधपुर हाईवे पर थाय्यात गांव में एक वॉर म्यूजियम के पास हुई

टीओआई की एक रिपोर्ट में लिखा है: सदर पुलिस स्टेशन के एसएचओ अरुण कुमार के अनुसार, एक कार किराए के वाहन से टकरा गई जिसमें चार का परिवार यात्रा कर रहा था। ड्राइवर के ठीक पीछे बैठी झिमली (49) टक्कर का सबसे ज्यादा शिकार हुई। “दुर्घटना में तीन अन्य लोग भी घायल हो गए: उनका बेटा वैभव (14), उनकी मां बुलबुल मुखर्जी (75) और कार चालक इंद्रनील। उनके पति, रमेश पांडे, ठीक हैं, ”उन्होंने कहा। पुलिस ने यह भी बताया, कि कार दुर्घटना जैसलमेर-जोधपुर हाईवे पर थाय्यात गांव में एक वॉर म्यूजियम के पास शाम करीब चार बजे हुई।

कोलकाता में जन्मीं झिमली करीब 24 साल तक जर्नलिस्ट रहीं

कोलकाता में जन्मीं झिमली करीब 24 साल तक जर्नलिस्ट रहीं। टाइम्स ऑफ इंडिया, कोलकाता के साथ एक सीनियर असिस्टेंट एडिटर, झिमली ने 20 वर्षों से अधिक समय तक न्यूज़ आर्गेनाइजेशन के साथ काम किया, जहां उन्होंने कम्युनिटीज, हेरिटेज और एजुकेशन को कवर किया। वह कोलकाता के लिटरेरी एरिया में अच्छी तरह से कनेक्टेड और रेस्पेक्टेड थीं और उन्होंने कोलकाता में टाइम्स लिटरेचर फेस्टिवल (टीएलएफ) के एडिशन के इवेंट्स में भी काम किया था। लिटरेचर के प्रति उनका प्रेम और नए वेंचर्स के प्रति उनका उत्साह अनोखा था।

“झिमली एक रेस्पेक्टेड कोलाब्रेटर और राइटर थी। वह टीओआई में अपने काम और टाइम्स लिटरेचर फेस्टिवल कोलकाता में पार्टिसिपेशन के माध्यम से कोलकाता के लिए एक कल्चरल एम्बेसडर के रूप में अपनी भूमिका के बारे में बहुत एक्ससिटेड थीं, जिसके लिए उन्होंने बंगाली राइटर का आयोजन किया और इसकी स्थापना के बाद से टीएलएफ की अद्भुत सफलता में काफी हद तक इम्पोर्टेन्ट रोले निभाया। टाइम्स लिटरेचर फेस्टिवल्स की एग्जीक्यूटिव एडिटर और डायरेक्टर विनीता डावरा नांगिया ने कहा, झिमली और उनके बचपन के उत्साह को याद किया जाएगा।

झिमली ने बंगाली भाषा और अंग्रेजी में लिखा

एक लेखक के रूप में झिमली ने बंगाली भाषा और अंग्रेजी में लिखा। उन्होंने बंगाली में आठ नावेल, बच्चों के लिए 25 शॉर्ट्स स्टोरीज और अंग्रेजी में एक नावेल 'नॉट जस्ट अदर स्टोरी' लिखा था, जो 2019 में पब्लिश हुआ था। उन्होंने कुछ पुस्तकों का ट्रांसलेट भी किया था।

उन्होंने द टाइम्स ऑफ इंडिया के वीमेन राइटर अवार्ड्स में भी एक्टीवेली भाग लिया और इसके लिए उनकी एंगेजिंग बुक्स पढ़ने को ऑडियंस द्वारा हमेशा याद किया जाएगा।


अनुशंसित लेख