न्यूज़

Mawya Sudan कौन है? जम्मू-कश्मीर के राजौरी से IAF में पहली महिला फाइटर पायलट

Published by
Yasmin Ansari

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले की फ्लाइंग ऑफिसर माव्या सुदान (Mawya Sudan) भारतीय वायु सेना (IAF) में फाइटर पायलट के रूप में शामिल होने वाली देश की 12वीं महिला अधिकारी बन गई हैं। माव्या सुदान अपने माता – पिता सुषमा और विनोद सुदान के साथ जम्मू-कश्मीर की नौशेरा तहसील के लम्बेरी गांव की रहने वाली है। सुदान 19 जून को भारतीय वायुसेना में एक फ्लाइंग ऑफिसर के रूप में शामिल हुई है। वह राजौरी जिले से पहली महिला फाइटर पायलट बनीं है।

कौन हैं माव्या सुदान ?

  • माव्या जम्मू-कश्मीर के राजौरी की रहने वाली हैं। वह जिले की पहली महिला और भारतीय वायुसेना में लड़ाकू पायलट के रूप में भर्ती होने वाली 12वीं महिला अधिकारी हैं।
  • उन्हें वायु सेना अकादमी, डुंडीगल, हैदराबाद में शनिवार (19 जून) को आयोजित combined ग्रेजुएशन परेड में यह सम्मान मिला था।
  • माव्या के माता-पिता के अनुसार, उनकी बेटी ने अपनी कड़ी मेहनत के कारण ही यह मुकाम हासिल किया है। “माता-पिता को अपनी बेटियों का समर्थन करना चाहिए, वे कुछ भी कर सकती हैं,” उन्होंने ANI को बताया।
  • माव्या फ्लाइट लेफ्टिनेंट अवनी चतुर्वेदी, भावना कंठ और मोहना सिंह के नक्शेकदम पर चलती हैं, जिन्होंने 2016 में फ्लाइंग ऑफिसर के रूप में कमीशन पाने वाली पहली महिला बनकर इतिहास रच दिया था। IAF में वर्तमान में ग्यारह महिला फाइटर पायलट हैं।
  • जम्मू-कश्मीर की युवा फाइटर पायलट ने अपनी बेसिक ट्रेनिंग पूरी कर ली है और अब एक साल से अधिक समय तक कठोर ट्रेनिंग से गुजरना होगा, ताकि वह एक फाइटर पायलट के रूप में “पूरी तरह से चालू” हो जाए और लड़ाकू उड़ान भर सके।
  • लड़ाकू पायलट बनना और देश की सेवा करना माव्या का बचपन का सपना था। “मुझे यकीन है कि वह जल्द ही और आगे बढ़ेगी। यह तो बस शुरुआत है,” उसकी बड़ी बहन तान्या सुदान ने बताया कि वह हमेशा वायु सेना में रूचि रखती थी।
  • उनकी मां, सुषमा सुदान ने कहा कि वह खुश हैं कि उनकी छोटी बेटी ने कड़ी मेहनत की और अपना लक्ष्य हासिल किया, जबकि उनके पिता विनोद सुदान ने कहा कि अब माव्या सिर्फ उनकी बेटी नहीं है, बल्कि इस देश की बेटी है।
  • सुदान के परिवार वाले और पुरे गांव के लोग उसकी उपलब्धि से बेहद खुश है।

फ़ीचर इमेज क्रेडिट: ANI/ Defence Squad

Recent Posts

ट्विटर ने वेटलिफ्टर मीराबाई चानू को टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मैडल जीतने पर दी बधाई

मीराबाई चानू की जीत पर बहुत सारे राजनेताओं, अभिनेताओं और खिलाड़ियों ने उन्हें बधाई देने…

4 mins ago

प्रेगनेंसी के दौरान अपना और अपने बच्चे का खयाल कैसे रखें ?

प्रेगनेंसी के समय आपको भले ही दो लोगों का खाना न खाना हो पर डाइट…

26 mins ago

कौन हैं लोआ डिका टौआ? क्यों हैं यह न्यूज़ में ?

लोआ डिका टौआ ने कहा कि इन्होंने बहुत ज्यादा पैदल चला था। एक वक़्त तो…

29 mins ago

मीराबाई चानू कौन है? जानिये टोक्यो ओलम्पिक 2020 में भारत को पहला मैडल दिलाने वाली महिला के बारे में

मणिपुर की 23 वर्षीय वेटलिफ्टर सैखोम मीराबाई चानू ने कॉमनवेल्थ गेम्स के पहले ही दिन…

37 mins ago

लोआ डिका टौआ ने बनाई वेटलिफ्टिंग ओलिंपिक में हिस्ट्री

इन्होंने कहा जब यह ओलिंपिक जीतकर रूम में आयी तब इनके सभी दोस्त इनके कह…

55 mins ago

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत का पहला मैडल : जानिये वेटलिफ्टर मीराबाई चानू की जीत से जुड़ी ये 6 बाते

वेटलिफ्टर मीराबाई चानू की जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर के दी…

1 hour ago

This website uses cookies.