वैज्ञानिक प्रोफेसर Jean-Jacques Muyembe Tamfum जिन्होंने 1976 में इबोला वायरस की खोज में मदद की थी, अब वो एक और भयंकर वायरस की संभावना के बारे में चेतावनी दे रहे है, जिसे ‘ Disease X ’ कहा जाता है। प्रोफेसर के अनुसार,‘ Disease X ’ , जो अफ्रीका के वर्षावनों से उत्पन्न हुआ है, COVID-19 के रूप में तेजी से फैलने की संभावना है।

image

बहुत जल्द एक और महामारी हो सकती है

World Health Organisation (WHO) के अनुसार, Disease X अभी भी hypothetical सिचुएशन में है लेकिन इससे बहुत जल्द एक और महामारी हो सकती है। वैज्ञानिक तामफूम के मुताबिक ‘डिजीज एक्स’ (Disease X) नाम काल्पनिक (hypothetical) है, लेकिन यह दुनिया में एक और महामारी की वजह बन सकती है। उनके मुताबिक कई बीमारियां जैसे कि येलो फीवर, इंफ्लूएंजा, रेबीज और यहां तक कि कोरोना वायरस जानवरों से इंसानों में पहुंचे हैं और महामारी के कारण बने हैं, इसलिए भविष्य में कोविड-19 से भी भयानक महामारियां फैल सकती हैं।

हम अब एक ऐसी दुनिया में हैं, जहां रोज़ एक नयी बीमारी का पता लगेगा। CNN की रिपोर्ट में कहा गया है कि यह मानवता के लिए खतरा है।

ब्रिटिश अखबार डेली मेल की एक खबर के मुताबिक अफ्रीकी देश रिपब्लिक ऑफ द कांगो (Republic of the Congo) की एक महिला मरीज में ‘डिजीज एक्स’ (Disease X) के पहले लक्षण दिखाई पड़े हैं। उस महिला को खून आने के साथ बुखार (haemorrhagic fever) आया था। मरीज की इबोला टेस्ट और दूसरी तमाम रिपोर्ट निगेटिव आई है, जिसके बाद डॉक्टरों में यह आशंका ज्यादा बढ़ गई है कि यह महिला रहस्यमयी वायरस ‘डिजीज एक्स’ (Disease X) की पहली शिकार हो सकती है, जो कोरोना से भी तेजी से फैल सकती है और इबोला से भी ज्यादा लोगों की जान ले सकती है।

WHO ने Disease X के बारे में बताया है कि इसमें X का मतलब है ख्याल से बाहर की चीज। रूस के वैज्ञानिकों ने इस नई और रहस्यमयी बीमारी की पड़ताल शुरू कर दी है। उधर उस महिला का इलाज करने वाले डॉक्टर बोनकोले का कहना है कि ‘सारे लोग डरे हुए हैं। इबोला को कोई नहीं जानता था, इसी तरह कोविड-19 का भी हमें पता नहीं था। इन नई बीमारियों से हमें डरना ही पड़ेगा।’

पढ़िए :COVID – 19 Vaccine Update : जानिए भारत बायोटेक की वैक्सीन Covaxin के बारे में 10 बातें

Email us at connect@shethepeople.tv