दिल्ली सरकार ने कहा कि आज से 30 अप्रैल तक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाईट कर्फ्यू लगा रहेगा। अभी तक लॉकडाउन पर विचार नहीं किया गया है।

दिल्ली सरकार द्वारा पिछले महीने राजधानी में कोरोनोवायरस इन्फेक्शन में नए सिरे से शुरुआत होने  के बाद यह सबसे स्ट्रिक्ट आर्डर है। रिपोर्ट्स के मुताबिक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा था कि दिल्ली COVID-19 के फोर्थ फेज़ से गुजर रही है, लेकिन अभी तक लॉकडाउन पर विचार नहीं किया जा रहा था।

दिल्ली में हालात सँभालने की कोशिश

उन्होंने कहा, “मौजूदा स्थिति के अनुसार, हम लॉकडाउन लगाने पर विचार नहीं कर रहे हैं। हम स्थिति पर करीबी से नजर रख रहे हैं और इस तरह का निर्णय उचित सार्वजनिक परामर्श के बाद ही लिया जाएगा। सोमवार को दिल्ली में 3,548 ताजा मामले और 15 मौतें दर्ज की गईं।

अधिकारियों ने कहा कि नाईट कर्फ्यू के दौरान ट्रैफिक की आवाजाही नहीं रोकी जाएगी और वैक्सीनेशन  के लिए जाने वालों को ई-पास की अनुमति दी जाएगी।

आवश्यक सेवाओं और रिटेलर्स जिन्हें राशन, किराना स्टॉक, सब्जियां, दूध और दवाओं के लिए घंटों तक बाद यात्रा करने की आवश्यकता होती है, उन्हें भी इसी तरह के पास के साथ अनुमति दी जाएगी। तो प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जर्नलिस्ट्स को भी यह सुविधा मिलेगी। प्राइवेट डॉक्टर्स, नर्सेज और बाकी मेडिकल स्टाफ को आईडी कार्ड के साथ मूवमेंट की अनुमति होगी। प्रेग्नेंट महिलाएं और वो लोग जिन्हे इलाज की ज़रूरत वाले लोगों के लिए एक्सेप्शन होगी।

दिल्ली सरकार ने अपने आदेश में कहा कि लोगों की आवाजाही की जांच के लिए नाईट  कर्फ्यू लगाया जा रहा है, जरूरी सेवाएं नहीं रोकी जाएंगी।

महाराष्ट्र में अभी भी कहर जारी

महाराष्ट्र और राजस्थान जैसे राज्यों ने देश भर में कोविड मामलों में स्पाइक के बीच मूवमेंट को बैन करने के लिए रात का कर्फ्यू शुरू किया है। सोमवार को, भारत में पहली बार 24 घंटों में मामलों की संख्या एक लाख को पार कर गई। महाराष्ट्र में वीकेंड पर रात 8 बजे से 7 बजे तक कर्फ्यू की घोषणा की गई। राजस्थान का नाईट कर्फ्यू रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक है।

Email us at connect@shethepeople.tv