Omicron Affecting Children More: ओमिक्रोण करता है बच्चों पर ज्यादा असर? साउथ अफ्रीका में बच्चों के मामले बड़े

Swati Bundela
04 Dec 2021
Omicron Affecting Children More: ओमिक्रोण करता है बच्चों पर ज्यादा असर? साउथ अफ्रीका में बच्चों के मामले बड़े

Omicron Affecting Children More: साउथ अफ्रीका में ओमिक्रोण के केसेस तेजी से बढ़ रहे हैं। साइंटिस्ट का कहना है कि इन्होंने ऐसा ऑब्ज़र्व किया है कि ओमिक्रोण के केसेस छोटे बच्चों में ज्यादा देखे जा रहे हैं खास कर के 5 साल से कम उम्र के बच्चों में। इसके अलावा यह केसेस 60 से ऊपर की उम्र के लोगों में ज्यादा देखे जा रहे हैं।

दिसंबर 4 को साउथ अफ्रीका ने पहली बार ओमिक्रोण को लेकर बात उठायी थी। अभी तक यहाँ कोरोना के ओमिक्रोण वैरिएंट के कारण से 16,055 लोग इन्फेक्ट हुए और 25 लोगों की जाने जा चुकी हैं।

क्या ओमिक्रोण करता है बच्चों पर ज्यादा असर? साउथ अफ्रीका में बच्चों के मामले बड़े


जिस तरीके के बच्चों 5 साल से कम उम्र के बच्चों में यह केस ज्यादा देखने को मिल रहे हैं उस हिसाब से कोरोना की यह वेव बच्चों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। कोरोना के नए वैरिएंट का नाम B. 1. 1. 529 है। साइंटिस्ट एक कहना है कि इस नए वायरस से ड़रने की और सावधानी बरतने की जरुरत है क्योंकि यह इंडिया में मिले वैरिएंट डेल्टा से भी ज्यादा खतरनाक है। यूनियन मिनिस्ट्री ने सभी स्टेट्स और यूनियन टेरिटरीज को लेटर भेजा है कि इस सभी अंतर्राष्ट्रीय ट्रैवेलर्स की टेस्टिंग पर ध्यान दिया जाए और नज़दीकी से फॉलो किया जाए।

इंडिया में ओमिक्रोण के क्या हालात हैं?


ओमिक्रोण जिसको लेकर सभी जगह तहलका मचा हुआ था उसके पहले 2 केसेस इंडिया में भी आ गए हैं। यह केसेस कर्णाटक के हैं और हेल्थ मिनिस्ट्री ने इसकी पुष्टि की है। इससे पूरे इंडिया में सभी अलर्ट हो गए हैं क्योंकि इस वैरिएंट की इंडिया में एंट्री हो गयी है और अब सभी को सतर्कता से रहने की जरुरत है।

एक्सपर्ट्स का यह भी कहना है कि यह वायरस डेल्टा वैरिएंट से भी 6 गुना ज्यादा संक्रामक है। इंडिया के प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी ने भी कह दिया है कि वायरस को लेकर सभी अलर्ट रहें। आपको याद होगा कि कोरोना की दूसरी हर के वक़्त डेल्टा वैरिएंट ने ही कितनी मुश्किल पैदा कर दी थी और सिचुएशन सभी जगह सीरियस हो गयी थी।

अनुशंसित लेख