न्यूज़

कौन हैं पूर्वी मोदी ? नीरव मोदी की बहन जिसके पास Rs. 579 Crore के एसेट्स हैं

Published by
Ayushi Jain

भागे हुए डायमंड मर्चेंट नीरव मोदी की बहन, जिसे अवैध मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में उनका करीबी विश्वासपात्र भी कहा जाता है, पूर्वी मोदी ने अपने पति के साथ-साथ अपनी संपत्ति का खुलासा किया है।’

उनकी कुल कीमत 579 करोड़ रुपये आंकी गई है। इसमें उनका मुंबई का 19.5 करोड़ रुपये का फ्लैट, 270 करोड़ रुपये के साथ दो स्विस बैंक अकाउंट, 220 करोड़ रुपये के दो न्यूयॉर्क फ्लैट, 62 करोड़ रुपये का लंदन का फ्लैट और 1.92 करोड़ रुपये का मुंबई में एक बैंक अकाउंट शामिल है। उन्होंने और उनके पति ने एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट को एक बयान में अपनी संपत्ति का खुलासा किया।

और पढ़ें: Roshni Nadar: 7 बातें जो आपको भारत की सबसे अमीर महिला के बारे में पता होनी चाहिए

आइये हम जानते हैं कि पूरवी मोदी कौन हैं:

  • पूर्वी मोदी हाल ही में अपने भाई नीरव मोदी के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले मामले में एक अप्प्रोवेर थी। इसका मतलब है कि वह अब नीरव मोदी पर मुकदमा चलाने में अधिकारियों का सहयोग करेगी।
  • यह निर्णय तब लिया गया जब उन्होंने अदालत से अपील की कि उन्हें माफ़ कर दिया जाए क्योंकि जांच एजेंसी ने उन्हें मुख्य आरोपी के रूप में पेश नहीं किया था।
  • मुंबई की विशेष अदालत ने उसे इस शर्त के साथ क्षमा याचना की अनुमति दी कि वह और उनके पति “पूर्ण और सच्चा खुलासे” करेंगे। मोदी और उनके पति वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जांच में शामिल होंगे।
  • 2018 में, इंटरपोल के लॉयन ऑफिस द्वारा उनके नाम पर एक रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था क्योंकि उन पर आरोप था कि वह नीरव मोदी के परिवार में शेल कंपनियों में इललीगल मनी ट्रांसफर्स में शामिल होने के लिए तीसरे सदस्य थे। बाद में उन्होंने मुंबई में एक विशेष अदालत में एक माफी आवेदन प्रस्तुत किया जिसमें घोटाले के मामले में एक अप्प्रोवेर बनने के लिए कहा गया।
  • वह एक बेल्जियम की नागरिक है जबकी उनके पति मियांक मेहता एक ब्रिटिश नागरिक हैं।
  • अमेरिका के जांचकर्ताओं ने उन्हें पॉइंट पर्सन और “डी फैक्टो मैनेजर” कहा, जो नीरव मोदी को उनकी हांगकांग कंपनी के मैनेजमेंट में मदद कर रही थी। कंपनी, फायरस्टार होल्डिंग्स लिमिटेड (FHL) मोदी द्वारा भारत के बाहर इललीगल लेनदेन करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली यूनिट थी।
  • यह भी पाया गया कि पैसे की तंगी के लिए पूर्वी मोदी ने ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में शेल कंपनियों का संचालन किया।
  • अमेरिकी अदालत ने यह भी कहा कि पूर्वी मोदी फाइन क्लासिक और लिंक हाई इंटरनेशनल नामक “शैडो एंटिटीज़” को कण्ट्रोल कर रही थी, जिसके माध्यम से अमेरिका स्थित कंपनियों में फ्रॉड इन्वेस्टमेंट किया गया ।

और पढ़ें: मैकेंज़ी स्कॉट ने पिछले 4 महीनों में $ 4 बिलियन से अधिक दान किया है

Recent Posts

क्यों सोसाइटी लड़कियों को कुछ बनने से पहले किसी को ढूंढने के लिए कहती है?

क्यों सोसाइटी लड़कियों से हमेशा सही जीवनसाथी ढूंढने की बात ही करती है? आज भी…

53 mins ago

अभिनेता जावेद हैदर की बेटी को फीस ना दे पाने के कारण हटाया गया ऑनलाइन क्लास से

अभिनेता जावेद हैदर की बेटी को उसके ऑनलाइन क्लास से हाल ही में हटाया गया…

2 hours ago

मीरा राजपूत के पोस्टर को मॉल में लगा देख गौरवान्वित हो गए उनके पेरेंट्स

पोस्ट के ज़रिये जो पिक्चर उन्होंने शेयर की है वो उनके पेरेंट्स की है जो…

3 hours ago

सोशल मीडिया ने फिर से दिखाया जलवा, अमृतसर जूस आंटी को मिली मदद

वासन की कांता प्रसाद और बादामी देवी की वायरल कहानी ने पिछले साल मालवीय नगर…

4 hours ago

कोरोना की वैक्सीन लगवाने के बाद क्या नहीं करना चाहिए?

वैक्सीन लगने के तुरंत बाद काम पर जाने से बचें अगर आपको ठीक लग रहा…

4 hours ago

दिल्ली: नाबालिक से यौन उत्पीड़न के केस में 27 वर्षीय अपराधी हुआ गिरफ्तार

नाबालिक से यौन उत्पीड़न केस: उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के शालीमार बाग़ एरिया से एक 27 वर्षीय…

4 hours ago

This website uses cookies.