Ramesh Kumar Rape Comment: "जब रेप से बच नहीं सकते हो लेट कर मजे लें" कांग्रेस नेता का भद्दा कमेंट

Ramesh Kumar Rape Comment: "जब रेप से बच नहीं सकते हो लेट कर मजे लें" कांग्रेस नेता का भद्दा कमेंट Ramesh Kumar Rape Comment: "जब रेप से बच नहीं सकते हो लेट कर मजे लें" कांग्रेस नेता का भद्दा कमेंट

SheThePeople Team

17 Dec 2021

Ramesh Kumar Rape Comment: KR रमेश कुमार, कर्णाटक लेजिस्लेटिव असेंबली के मेंबर हैं और इनके भद्दे कमेंट को लेकर यह न्यूज़ में हैं। इन्होंने रेप के लिए कहा कि "जब आप रेप होने से बच नहीं सकते तो लेट कर मजे लें"। इनके इस कमेंट पर स्पीकर विश्वेश्वर हेगड़े कगरी भी हस्ते हुए पाए गए।

यह रिकॉर्डिंग सभी जगह वायरल हो गयी है और न सिर्फ रमेश कुमार बल्कि विश्वेश्वर हेगड़े के खिलाफ भी कार्यवाही की जानी चाहिए जो वो इतनी सेंसिटिव बात पर हंसे। इस बात पर इनको एक सख्त कार्रवाई करनी चाहिए थी लेकिन वो खुद ही इस पर हस्ते पाए गए।

KR रमेश कुमार कर्णाटक असेंबली के पहले स्पीकर रह चुके हैं। जब इन्होंने रेप को लेकर यह भद्दा कमेंट किया तब असेंबली में मौजूद किसी भी स्पीकर ने इसके खिलाफ आवाज नहीं उठायी। इस बात को लेकर सभी लोगों में बहुत गुस्सा है और सभी इनको टारगेट कर रहे हैं।

क्यों है रमेश कुमार का कमेंट गलत?


रेप एक बहुत ही सेंसिटिव मुद्दा होता है आज भी हमारा समाज पूरा ताकत लगाकर इससे लड़ रहा है ताकि लकड़ियों के लिए सुरक्षा बड़े और रेप कम हों। आज कल तो रेप के मामले कम उम्र की बच्चियों के साथ ज्यादा देखने को मिल रहे हैं। क्योंकि रेप केसेस बढ़ने के कारण से माता पिता कम उम्र से ही अपने बच्चों को इसके बारे में सीखकर रखते हैं लेकिन जो बहुत छोटे बच्चे होते 12 से कम उम्र के उन में इतनी समझ नहीं होती है कि उनके साथ क्या हो रहा है। यह गलत है या सही है।

KR रमेश कुमार इससे पहले क्या विवादित बयान दिया था?


इससे पहले भी कुमार ने ऐसी ही भद्दी टिप्पड़ी एक बार और की थी। इन्होंने करंटक असेंबली में कहा था कि इनको एक रेप विक्टिम की तरह फील हो रहा है। रेप एक बार होता है अगर आप उसको वहीं छोड़ दो तो वो बात गुज़र जाती है। अगर आप शिकायत दर्ज करवाओगे और गुन्हेगार को जेल में पहुंचने का कहोगे तब सिचुएशन अलग हो जाती है। आपका वकील आपको बार बार पूछेगा कैसे हुआ, क्या हुआ, कब हुआ, किसने किया और कितनी बार किया? इससे आपका रेप तो एक ही बार होता है लेकिन आपको ऐसा लगता है जैसे 100 बार कोर्ट में भी हुआ है। ऐसी ही मेरी भी परिस्तिथि है।

अनुशंसित लेख