सब्यसाची ने मंगलसूत्र एड हटाया, BJP लीगल एडवाइजर ने भेजा था नोटिस

सब्यसाची ने मंगलसूत्र एड हटाया, BJP लीगल एडवाइजर ने भेजा था नोटिस सब्यसाची ने मंगलसूत्र एड हटाया, BJP लीगल एडवाइजर ने भेजा था नोटिस

SheThePeople Team

01 Nov 2021

सब्यसाची मुखर्जी एक इंडियन फैशन डिज़ाइनर हैं और इनकी बहुत ही सक्सेसफुल ब्रांड भी है जिसका नाम सब्यसाची है। यह ब्रांड इनके लोयल और एलिगेंट कलेक्शन के लिए जानी जाती है। लेकिन कुछ दिनों पहले यह मंगलसूत्र का एक ऐसा एड लेकर आए जिसे देख सभी लोगों ने जमकर इनका विरोध किया। यह एड अब ब्रांड द्वारा हटा दिया गया है।

सब्यसाची ने मंगलसूत्र एड हटाया, BJP लीगल एडवाइजर ने दिया था 15 दिन का नोटिस


सब्यसाची को मध्य प्रदेश के होम मिनिस्टर नरोत्तम मिश्रा ने लीगल नोटिस भी भेजा था और यह एड हटाने के लिए कहा था। नरोत्तम मिश्र ने लीगल एक्शन लेने की साफ़ साफ़ धमकी दी थी और 24 घंटे का वक़्त दिया था।

इनके अलावा BJP महाराष्ट्र के लीगल एडवाइजर आशुतोष दुबे ने भी फैशन डिज़ाइनर सब्यसाची के खिलाफ लीगल नोटिस इशू किया था और कहा था कि इनका यह मंगलसूत्र का एड हिन्दू कम्युनिटी और हिन्दू मैरिज के लिए अपमानजनक है और इन्होंने इनको यह एड हटाने के लिए 15 दिन दिए थे।

फैशन डिज़ाइनर सब्यसाची ने एड हटाते वक़्त क्या लिखा?


सब्यसाची ने यह एड कल संडे को 31 अक्टूबर को हटाया है और यह एड आया उसके भी 4 दिन पहले था। सब्यसाची मुख़र्जी ने यह एड हटाते वक़्त लिखा कि हम कल्चर और हेरिटेज को डाइनेमिक बात चीत के रूप में देख रहे थे। लेकिन कुछ लोगों को यह एड अच्छा नहीं लगा और इसको लेकर ब्रांड बेहद दुखी है। इसलिए हम सब्यसाची ने इस मंगलसूत्र के एड को हटाने का फैसला लिया है।

सब्यसाची मंगलसूत्र कंट्रोवर्सी क्या है?


सब्यसाची के इस नए एड में सेम सेक्स के कपल हैं और महिलाएं अंदरूनी कपड़ें पहन कर पोज़ कर रही हैं। इनका जो मैन पोस्टर है जिसको लेकर विद्रोह किया जा रहा है उस में महिला ब्रा में है और मंगलसूत्र का एड कर रही है। इसको देख कर कई इस एड की तुलना कंडोम के एड से या फिर ब्रा के एड से कर रहे हैं।

सब्यसाची के कपड़ों की जानी मानी ब्रांड है और इनके रॉयल और एलिगेंट कलेक्शन के लिए जानी जाती है। लोग मांग कर रहे है कि इस ब्रांड के एड को जल्द से हटाया जाए और ब्रांड से मांफी मांगने की मांग भी की जा रही है। मंगलसूत्र हिन्दू कल्चर में सुहाग ही निशानी मानी जाती है और इस तरीके से इसे दिखाना गलत है इससे हिन्दू को ठेस पहुंची है।

सब्यसाची ने यह एड कल संडे को 31 अक्टूबर को हटाया है और यह एड आया उसके भी 4 दिन पहले था। सब्यसाची मुख़र्जी ने यह एड हटाते वक़्त लिखा कि हम कल्चर और हेरिटेज को डाइनेमिक बात चीत के रूप में देख रहे थे। लेकिन कुछ लोगों को यह एड अच्छा नहीं लगा और इसको लेकर ब्रांड बेहद दुखी है। इसलिए हम सब्यसाची ने इस मंगलसूत्र के एड को हटाने का फैसला लिया है।

अनुशंसित लेख