Aftab Poligraph Test: आफताब ने कहा, श्रद्धा को मार कर नहीं है पछतावा

श्रद्धा मर्डर केस में बुधवार को एक बड़ा खुलासा हुआ जो काफी चौंकाने वाला है। श्रद्धा की हत्या करने वाले आफताब ने पॉलीग्राफ टेस्ट में हत्या की बात स्वीकार की है।

Monika Pundir
01 Dec 2022
Aftab Poligraph Test: आफताब ने कहा, श्रद्धा को मार कर नहीं है पछतावा

shraddha murder case

Aftab Poligraph Test: आफताब ने कहा, श्रद्धा को मार कर नहीं है पछतावा, मिलेंगी हूरें

श्रद्धा मर्डर केस में बुधवार को एक बड़ा खुलासा हुआ जो काफी चौंकाने वाला है। श्रद्धा की हत्या करने वाले आफताब ने पॉलीग्राफ टेस्ट में हत्या की बात स्वीकार की है। उसने कहा, 18 मई को ही उसने श्रद्धा वॉकर की हत्या करदी थी और उसके शरीर के टुकड़ों को अलग अलग फेंकने का निर्णय किया था। हत्या पर पछतावे की बात से इनकार करते हुए आफताब ने यहां तक कहा की उसको जन्नत में हूर मिलेंगी।

पूछे गए थे 50 सवाल

तिहाड़ जेल में बंद आफताब को 17 नवंबर तक पुलिस रिमांड पर भेजा गया था। लेकिन रिमांड खत्म होने के बाद जेल भेज दिया गया था। लेकिन पुलिस ने पुनः कोर्ट से आदेश लेकर 50 सवालों के जवाब मांगे जिसमें उसने कई चौंकाने वाले राज़ भी खोले हैं।

हत्या करने की नियत से ले गया था मुंबई

सूत्रों के हवाले से दावा किया जा रहा है कि "मिली जानकारी के अनुसार आफताब ने पॉलीग्राफ टेस्ट में यह स्वीकार किया है कि, हत्या करने के इरादे से ही श्रद्धा को मुंबई लेकर आया था। लेकिन सफ़ल नही हो पाया था। आफताब ने पहले भी श्रद्धा के साथ मारपीट और हत्या की कोशिश की बात स्वीकर की है। 

कई महिलाओं से रखता था संबंध

बुधवार को हुए पॉलीग्राफ टेस्ट के संबंध में सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह पता चला है कि आफताब ने कई अन्य महिलाओं से भी संबंध होने की बात स्वीकार की है। साथ ही यह भी स्वीकारा है कि उसने श्रद्धा की हत्या से संबंधित कोई जानकारी उसके परिवारवालों से साझा नहीं किया।

नार्को टेस्ट के लिए पुलिस ने तैयार किए 70 सवाल

पॉलीग्राफ़ टेस्ट संपन्न होने के बाद पुलिस ने इस हफ्ते होने वाली आफताब के नार्को टेस्ट के लिए 70 सवालों की एक सूची तैयार कर ली है। हालांकि अभी पॉलीग्राफ टेस्ट की पूरी रिपोर्ट सामने नहीं आई है। पूरी रिपोर्ट सामने आने के बाद सवालों की संख्या में बदलाव भी हो सकता है।

गौरतलब हो कि, अफताब को 12 नवंबर को गिरफ्तार कर पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया था। अफताब ने एक मानसिक और लैंगिक असमानता की बिमारी से पीड़ित घृणित कृत्य किया है। जिसे फिलहाल पुलिस और ज्यूडिशियल कस्टडी की कई प्रक्रियाओं से गुजरना होगा। लेकिन इसके बाद भी महिलाओं के खिलाफ़ ऐसी जघन्य हिंसा ना हो, या होने के बाद कई हफ्तों तक किसी को जानकारी तक ना हो ऐसी समस्याओं से कब तक पार पाया जा सकेगा यह एक बड़ा सवाल है।

Read The Next Article