Taliban Terrorism in Afghanitan: अफ़ग़ानिस्तान में बड़ रहा आतंक, 6 महीने प्रेग्नेंट महिला पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या की

Taliban Terrorism in Afghanitan: अफ़ग़ानिस्तान में बड़ रहा आतंक,  6 महीने प्रेग्नेंट महिला पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या की Taliban Terrorism in Afghanitan: अफ़ग़ानिस्तान में बड़ रहा आतंक,  6 महीने प्रेग्नेंट महिला पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या की

SheThePeople Team

06 Sep 2021

Taliban Terrorism in Afghanitan - जबसे अफ़ग़निस्तान पर तालिबान ने 15 अगस्त को कब्ज़ा किया है वहां की हालत गंभीर है। तालिबान हमेशा से महिलाओं के हक़ के खिलाफ बात करते आए हैं। कभी यह महिलाओं की पढ़ाई के खिलाफ होते हैं तो कभी महिलाएं क्या पहनती हैं इसके। इस बारे न्यूज़ आई है कि एक प्रेग्नेंट पुलिसकर्मी महिला पर अफगानी ने बन्दूक चलाई वो भी उसके परिवार वालों के सामने। प्रेग्नेंट महिला का नाम बानू निगारा है और वो 6 महीने प्रेग्नेंट थीं जब उसकी बेहरहमी से हत्या की गयी। यह न्यूज़ तालिबान के एक पत्रकार बिलाल सरवरी ने ट्वीट कर के बताया संडे को।

केस से जुड़ीं 10 जरुरी बातें -


1. महिलाओं की बात जब भी आती है तालिबान हमेशा उन्हें दबाकर और छुपाकर रखना चाहते हैं।

2. यह दुष्कर्म करने के बाद उन्हें एक्सेप्ट तक नहीं करते हैं। तालिबान में इस न्यूज़ को भी जहाँ एक प्रेग्नेंट महिला की गोली मारकर हत्या की गयी मानने से साफ़ इंकार कर रहे हैं। इन्होंने कहा कि इन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया है।

3. तालिबान के स्पोक्सपर्सन जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि उनको इस इंसिडेंट के बारे में कुछ भी पता नहीं है और ऐसा किसी दुश्मनी के चलते भी हो सकता है।

4. जहाँ यह इंसिडेंट हुआ वहां के लोगों का ऐसा कहना है कि तालिबान ने प्रेग्नेंट महिला के ऊपर हाँथ उठाया और फिर उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। यह मामला महिला के हस्बैंड और बच्चे के सामने ही हुआ।

5. तालिबान के तीन लोग वहां बन्दूक लेकर आये थे और वहां आकर उन्होंने बहुत जांच पड़ताल की और फैमिली मेंबर्स को बाँध दिया था। फैमिली का इंसान प्रोविंशियल प्रिज़न में काम करता था अफ़ग़निस्तान तालिबान के कब्जे में आने से पहले।

6. तालिबान के हायर एजुकेशन मिनिस्टर ने कहा कि अब से महिलाओं को यूनिवर्सिटी में पड़ने की परमिश दी जा रही है लकिन मिक्स्ड क्लासेज को लेकर अभी भी बैन रहेगा।

7. 15 अगस्त को तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान पर कब्ज़ा कर लिया था और इसके कुछ दोनों बाद इन्होंने इस कंट्री का नाम भी बदल दिया था।

8. तालिबान में हमेशा से महिलाओं के अधिकारों को दबाने के प्रयास किए गए हैं फिर चाहे वो बुरखे को लेकर हो या फिर पढाई को लेकर।

9. तालिबान के एक्टिंग मिनिस्टर का नाम अब्दुल बाक़ी हक़्क़ानी है और इन्होंने कहा कि यह देश में एक ऐसा माहौल बनाना चाहते हैं जो इस्लामिक, नेशनल और हिस्टोरिकल वैल्यूज को फॉलो करे और दूसरे देशों को भी टक्कर दे सके।

10. इन्होंने महिलाओं को आगे बढ़ाने का फैसला तो किया है लेकिन इस्लामिक लॉ के अंतर्गत।

अनुशंसित लेख