तरुण तेजपाल केस  – पूर्व प्रधान संपादक पर 2013 में एक जूनियर सहयोगी का रेप करने का आरोप लगाया गया था। यह घटना उत्तरी गोवा के एक स्टार होटल में हुई थी। तेजपाल पर 7 और 8 नवंबर, 2013 को ग्रैंड हयात, बम्बोलिम, गोवा के एक लिफ्ट के अंदर महिला के साथ जबरदस्ती करने का आरोप लगाया गया था।

तेजपाल पर कौन कौन सी धरा लगी थीं ?

तेजपाल पर आईपीसी की धारा 341 (गलत तरीके से रोकना), 342 (गलत तरीके से बंधक बनाना), 354 (यौन उत्पीड़न), 354 ए के तहत मुकदमा चलाया गया था।

पूरा केस क्या था ?

तेजपाल पर 7 और 8 नवंबर, 2013 को ग्रैंड हयात, बम्बोलिम, गोवा के एक लिफ्ट के अंदर महिला के साथ जबरदस्ती करने का आरोप लगाया गया था। तेजपाल के साथ काम करने वाली महिला पत्रकार ने आरोप लगाया था कि जब वे दोनों गोवा में थे, तब उन्होंने उसका यौन उत्पीड़न किया था। हालाँकि, उन्होंने “दोषी नहीं होने का अनुरोध” किया था, जिसके बाद अदालत में मामला दर्ज किया गया था। बाद में उन्हें 30 नवंबर, 2013 को गिरफ्तार किया गया था।

2013 में आरोपों के बाद, अगले दिन, एक लंबे ईमेल में, तेजपाल ने उस महिला को औपचारिक माफीनामा भेजा जिसमें उन्होंने कहा था, “मैं निर्णय की शर्मनाक चूक के लिए बिना शर्त माफी मांगता हूं जिसके कारण मुझे आपके साथ यौन संबंध बनाने का प्रयास करना पड़ा। दो बार 7 नवंबर और 8 नवंबर 2013 को, आपकी स्पष्ट अनिच्छा के बावजूद कि आप मुझसे इस तरह का ध्यान नहीं चाहते थे।”

अपने पिता की ओर से, तेजपाल की बेटी कारा तेजपाल ने एक बयान में कहा था कि उन पर यौन उत्पीड़न का “झूठा आरोप” लगाया गया था। उन्होंने यह भी दावा किया था कि पिछले कुछ साल उनके परिवार के लिए “दर्दनाक” रहे हैं क्योंकि उन्होंने अपने जीवन के हर पहलू पर इन “झूठे आरोपों” के विनाशकारी नतीजों का सामना किया है।

Email us at connect@shethepeople.tv