US First Omicron Case: US में निकला पहला ओमिक्रोण केस, जानिए इससे जुड़ीं जरुरी बातें

US First Omicron Case: US में निकला पहला ओमिक्रोण केस, जानिए इससे जुड़ीं जरुरी बातें US First Omicron Case: US में निकला पहला ओमिक्रोण केस, जानिए इससे जुड़ीं जरुरी बातें

SheThePeople Team

02 Dec 2021

US First Omicron Case: यूनाइटेड स्टेट्स में पहला ओमिक्रोण का मामला सामने आया है। यह केस यूनाइटेड स्टेट्स के कैलिफोर्निया में निकला है। दिसंबर 1 को वाइट हाउस ने कहा है कि साइंटिस्ट अभी इस वैरिएंट से जुड़ी सभी जरुरी जानकारी इक्कठा कर रहे हैं। सबसे बड़ी बात यह है ओमिक्रोण से इन्फेक्टेड व्यक्ति पूरी तरीके से फुली वैक्सीनेटेड था।

US First Omicron Case


यह व्यक्ति साउथ अफ्रीका से यूनाइटेड स्टेट्स 22 नवंबर को आया था और इसके बाद 7 दिन बाद यह ओमिक्रोण के लिए पॉजिटिव आया। यह न्यूज़ वाइट हाउस के कोविद कोऑर्डिनेटर जेफ्फ जीएंट्स ने सभी को दी थी और बताया था कि कोरोना ओमिक्रोण का पहला केस US में आया है।

इसके अलावा इन्होंने यह भी कहा कि इस वैरिएंट से बचने का बेस्ट तरीका वैक्सीनेशन, मास्क और सोशल डिस्टन्सिंग ही है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन का कहना है कि सभी जगह इंटरनेशनल ट्रैवल बंद करने से ही इस वायरस को पूरे वर्ल्ड में फैलने से रोका जा सकता है। क्योंकि अभी भी कई ऐसे देश बाकि हैं जहाँ तक यह नया वैरिएंट ओमिक्रोण नहीं पंहुचा है जैसे कि इंडिया।

इंडिया में ट्रैवलर्स के लिए क्या हैं नए गाइडलाइन्स?


1. भारत आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को मैंडेटरी एक सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भरना होगा और अपनी नकारात्मक आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट अपलोड करनी होगी।

2. यात्रियों को विमान में चढ़ने की अनुमति देने से पहले, इन नेगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्टों की उपलब्धता एयरलाइनों द्वारा चेक की जानी चाहिए।

3. अगर टेस्ट नेगेटिव है, तो भी उन्हें सात दिनों के लिए होम क्वारंटाइन से गुजरना होगा और आठवें दिन फिर से टेस्ट करवाना होगा और उन 7 दिनों तक अपने स्वास्थ्य की निगरानी करने की आवश्यकता है।

4. अगर पहले टेस्ट में और दोबारा टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आती हैं, तो यात्री को एक अलग आइसोलेशन सुविधा के रूप में भर्ती किया जाएगा, जबकि उनका सैंपल जीनोम टेस्ट के लिए भेजा जाएगा।

5. यह रूल्स सिर्फ ‘जोखिम में’ देशों के लिए लागू किए गए हैं फिलहाल के लिए। इसके साथ ही, 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को छूट दी गई है, सिवाय इसके की यदि सिंपटम्स पाए जाते हैं।

6. पॉजिटिव आने वाले यात्रियों के लिए लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल, दिल्ली में 40 बिस्तरों का एक वार्ड बनाया गया है।

अनुशंसित लेख