टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

फ़ीचर्ड ब्लॉग न्यूज़

Women On Protest Dies At Dharna Site: 81 दिनों के विरोध के बाद आगरा की महिला की मौत

Women On Protest Dies At Dharna Site: 81 दिनों के विरोध के बाद आगरा की महिला की मौत
SheThePeople Team

03 Jan 2022


Women On Protest Dies At Dharna Site: उत्तर प्रदेश के आगरा के धनोली, अजीजपुरा और सिरोली गांवों में रोड और ड्रेनेज सिस्टम की प्रॉपर डिमांड की मांग को लेकर 81 दिनों से धरना दे रही, रानी देवी की धरना स्थल पर मौत हो गई।

लोग पिछले 81 दिनों से इलाके में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं

रविवार को देवी की मौत हो गई। रानी के बगल में सो रही एक अन्य महिला को बेहोशी की हालत में अस्पताल ले जाया गया। स्थानीय लोग पिछले 81 दिनों से इलाके में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने डिस्ट्रिक्ट हेडक्वार्टर्स पर नारे लगाए, गंजे हो गए, गड्ढों के अंदर बैठ गए और सड़कों पर पानी भर गया, भूख हड़ताल पर चले गए और अपकमिंग असेंबली इलेक्शन के बॉयकॉट के लिए पोस्टर लगाए। उनमें से कुछ ने उनके घरों की दीवारों पर "बिक्री के लिए" बैनर भी चिपका दिए।

48 वर्षीय रानी मालपुरा थाना क्षेत्र के विकास नगर की रहने वाली थी। वह 13 अक्टूबर से सिरोली-धनोली रोड प्रोटेस्ट साइट पर रोज़ विरोध प्रदर्शन कर रही थी। वह अपने 22 वर्षीय बेटे नीरज के साथ साइट के पास एक किराए के घर में रह रही थी।

Women On Protest Dies At Dharna Site: देवी की मौत के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह जिम्मेदार है

जूता बनाने वाली एक इकाई में मजदूर नीरज ने कहा, "मैं अपनी मां को रात में धरना स्थल पर न जाने के लिए कहता था, लेकिन वह अड़ी थी। वह शनिवार को वहीं सो गई थी। विवार की सुबह उसकी चाय, जब मैं देने गया, तो वह नहीं उठी। उनका शरीर ठंडा और कड़ा था। हमने एक डॉक्टर को बुलाया, जिसने उसे मृत घोषित कर दिया। देवी की मौत के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह जिम्मेदार है।"

प्रोटेस्ट साइट पर रानी की मौत की पुष्टि करते हुए, एसडीएम लक्ष्मी एन ने कहा, "शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। हम परिवार को मुख्यमंत्री रिलीफ फंड से कुछ फाइनेंसियल सहायता और अन्य सरकारी योजनाओं के तहत लाभ देने का प्रयास करेंगे।"

बेहोश हुई दूसरी महिला 85 वर्षीय कीर्ति देवी है

इस बीच बेहोश हुई दूसरी महिला 85 वर्षीय कीर्ति देवी है। 5 दिसंबर को कीर्ति ने चौधरी प्रेम सिंह नाम के एक व्यक्ति के साथ प्रोटेस्ट साइट के पास जमीन खोदी थी और धरना दिया था।

प्रोटेस्ट का लीड कर रही सामाजिक कार्यकर्ता सावित्री चाहर ने कहा, "पिछले तीन वर्षों में, हमने स्वच्छता और स्वच्छता की कमी, वाटर लॉगिंग और खराब सड़क और ड्रेनेज जैसे मुद्दों को उठाया है। हमने पिछले साल भी इन मुद्दों पर विरोध प्रोटेस्ट किया था, जिसके बाद लोकल ऑफिसियल ने हमें बताया, कि वे वाटरलॉगिंग की समस्या का समाधान करेंगे, लेकिन अभी तक कुछ भी नहीं किया गया है।”

धनोली और आसपास के क्षेत्रों के लिए 43 करोड़ रुपये के डेवलपमेंट वर्क प्रोपोसड किए गए

जिलाधिकारी प्रभु एन. सिंह ने कहा, ''धनोली और आसपास के क्षेत्रों के लिए 43 करोड़ रुपये के डेवलपमेंट वर्क प्रोपोसड किए गए हैं। लोकल लोगों की मांग के बाद सड़कों का निर्माण शुरू किया गया। इससे पहले वाटरलॉगिंग को साफ करने के लिए टेम्पररी अरेंजमेंट की गई थी। हम एक सस्टेनेबल ड्रेनेज सिस्टम को डेवेलोप करने के लिए भी काम कर रहे हैं। मृतक महिला के परिवार को उचित मदद मुहैया कराई जाएगी।"


अनुशंसित लेख