"इंतज़ार कर रही हूँ कि कब तालिबान आएगा और मुझे मारेगा" : मिलिए अफगानिस्तान की पहली महिला मेयर से

"इंतज़ार कर रही हूँ कि कब तालिबान आएगा और मुझे मारेगा" : मिलिए अफगानिस्तान की पहली महिला मेयर से "इंतज़ार कर रही हूँ कि कब तालिबान आएगा और मुझे मारेगा" : मिलिए अफगानिस्तान की पहली महिला मेयर से

SheThePeople Team

17 Aug 2021


Zarifa Ghafari kaun hai? अफगानिस्तान में हुए तख्तापलट में वहा के लोगो की स्थिति बेहद दयनीय हो चुकी है ,खासतौर पर वहा की महिलाओं की। इस उथल पुथल के बीच अफगानिस्तान से एक महिला का बेबाक बयान सामने आया है। "मैं यहाँ बैठी हूँ उनके आने का इंतज़ार कर रही हूँ। मेरी या मेरे परिवार की मदद करने वाला कोई नहीं है। मैं बस उनके और अपने पति के साथ बैठी हूं। और वे मेरे जैसे लोगों के लिए आएंगे और मुझे मार देंगे, ”अफगानिस्तान की पहली और सबसे कम उम्र की महिला मेयर ज़रीफ़ा गफ़री (Zarifa Ghafari) ने रविवार को देश में तालिबान समूह के नियंत्रण के बाद कहा।

गफरी को इससे पहले भी तालिबान की ओर से जान से मारने की धमकी मिल चुकी है। इनके पिता जनरल अब्दुल वसी गफ़री को पिछले साल 15 नवंबर को आतंकवादियों ने मार गिराया था। उनके पिता की ये हत्या उन पर तीसरी बार हुए नाकाम हमले के ठीक 20 दिन बाद हुई थी।

ज़रीफ़ा गफ़री कौन है ? (Zarifa Ghafari kaun hai)



  • ज़रीफ़ा गफ़री वरदक प्रांत, अफगानिस्तान की राजधानी शहर की पहली और सबसे कम उम्र की महिला मेयर है (Afghanistan's first youngest female mayor)। उन्हें ये पद 2018 में मिला था।

  • राजनीती के अलावा गफ़री अफगानी एडवोकेट, कार्यकर्ता, और इंटरप्रेन्योर भी है।

  • उन्होंने अपनी शुरुवाती शिक्षा के लिए पक्तिया प्रांत के हलीमा ख़ज़ान हाई स्कूल से पढ़ाई की है। उसके बाद उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़, भारत में अपनी हायर स्टडी पूरी की।

  • मेयर बनने के बाद उन्हें पहले दिन ही पुरुषों के एक समूह से उत्पीड़न का सामना करना पड़ा था। पुरुषो ने उनके कार्यालय को घेर लिया था और उन्हें पद से इस्तीफा देने की चेतावनी दी थी।

  • मेयर के रूप में अपनी ज़िम्मेदारी संभालने के बाद उन्हें तालिबान और आईएसआईएल से मौत की धमकियों का भी सामना करना पड़ा।

  • ज़रीफ़ा ने मार्च 2019 में मैदान शहर के मेयर के रूप में शपथ ली थी।

  • ज़रीफ़ा ने शहर में एक anti-litter campaign की भी शुरुवात की थी जिसका मकसद था गन्दगी हटाना।

  • उन्हें बीबीसी द्वारा 2019 के लिए दुनिया भर की 100 प्रेरक और प्रभावशाली महिलाओं (100 inspiring and influential women) की लिस्ट में शामिल किया गया था।

  • ज़रीफ़ा को 2020 में अमेरिकी विदेश मंत्री द्वारा International Woman of Courage का सम्मान भी मिला था।

  • उनके ये सभी हिम्मतवाले कार्य कई महिलाओं के लिए एक आदर्श है I


फीचर इमेज क्रेडिट : इंडिया टुडे

ये भी पढ़िए : यल्दा हाकिम कौन है ? मिलिए, तालिबान की कॉल को बड़ी ही बेबाकी से सँभालने वाली इस पत्रकार से


अनुशंसित लेख