Singlehood Can Be A Choice: सिंगल है, खुश है, तुम्हे क्या प्रॉब्लम है?

Singlehood Can Be A Choice: सिंगल है, खुश है, तुम्हे क्या प्रॉब्लम है? Singlehood Can Be A Choice: सिंगल है, खुश है, तुम्हे क्या प्रॉब्लम है?

Monika Pundir

13 Aug 2022

हमारे समाज में एक व्यक्ति के शिक्षा पूरा होने के तुरंत बाद उसके शादी की बात शुरू हो जाती है। ख़ास कर लड़की के लिए माता पिता और रिश्तेदार शादी के लिए दबाव डालने लगते हैं। अगर लड़की 30 साल की उम्र पार कर जाए, उसे या तो बेचारी मान लिया जाता है, या माना जाता है की लड़की में कुछ ख़राब है, इसलिए उसकी शादी नहीं हो रही है। सिंगल होना एक चॉइस हो सकता है, यह बात समाज नहीं समझती।

सिंगल होना मजबूरी नहीं है 

जिस लड़की की शादी न हो, शादी टूट जाये या वह रेलशनशिप में न हो, समाज उसको बेचारी समझते हैं। कुछ लोग तो उसके माता पिता के साथ दुख बांटने या सहानुभूति जताने आ जाते हैं।  

एक सिंगल महिला को सिंगल रहने और अकेले रहने के लिए उसकी 'पसंद' के लिए बहुत कठोरता से जज किया जाता है। मर्दों के लिए इस प्रकार की 'शादी नहीं हो रही होगी’ पहला विचार है। अगर वह खुद शादी नहीं चाहती? क्या होगा अगर वह अकेले रहना चाहती है? सिंगल रहना और अकेले रहना वास्तव में 'पसंद' हो सकता है, यह पूरी तरह से खारिज कर दिया गया है। मुख्य रूप से यह माना जाता है कि महिलाएं अपनी पसंद से अकेली नहीं रह सकतीं, लेकिन वे बेबसी के कारण अकेली हैं।

पुरुष भी सिंगल लड़की को ज़्यादा सताते हैं 

पुरुष सोचते हैं की अगर एक लड़की सिंगल है और कहती है की वह उसमें इंटरेस्टेड नहीं है तो वह शर्मा रही है। “लड़की के ना में हाँ छुपी है” वाली बॉलीवुड प्रोपेगंडा को पुरुषों ने सच मान लिया है। 

लड़कियाँ एक दुसरे को एक आम सलाह  देती हैं, की अगर कोई लड़का तुम्हें परेशान कर रहा है, कह दो की तुम्हारा बॉयफ्रेंड या पति है। आश्चर्य की बात है की यह सलाह काम करती है। मैंने खुद इस झूठ का प्रयोग किया है और मेरे लिए यह काम किया है। 

दुख की बात है की सिंगल औरत के मर्ज़ी से ज़्यादा पुरुषों को दुसरे पुरुषों का ज़्यादा सम्मान है।

सिंगल व्यक्ति अधूरा नहीं होता

एक आम धारणा है की सिंगल व्यक्ति अधूरा होता है और केवल एक पार्टनर आपको पूरा कर सकता है। इस ज़माने में लड़का लड़की दोनों पढाई करते हैं, नौकरी करते हैं, व्यवसाय शुरू करते हैं, तो उन्हें किसी और की क्या ज़रूरत? इमोशनल ज़रूरतों के लिए दोस्त और परिवार भी होते हैं। 

अगर आप खुद के साथ, अकेले खुश नहीं रह सकते तो कोई पार्टनर आपको खुश नहीं कर पायेगा। इसलिए रिलेशनशिप काउंसिलर्स अक्सर कहते हैं की अपने पार्टनर को प्यार करने की कोशिश से पहले खुद को प्यार करना सीखे, खुद को खुश करना सीखें।

अनुशंसित लेख