Relationship Tips: दूरियां बन जाएं नज़दीकियां जानें कुछ बिंदू

रिश्तों में टकराव न हो इसके लिए सब प्रयत्न करते हैं और कारण के पीछे भी जाते हैं। क्या आप जानते हैं रिलेशनशिप में प्यार है लेकिेन आप प्यार जता कैसे रहे हैं, इसे कभी समझा है। आइए इस रिलेशनशिप ब्लॉग में जाने रिलेशनशिप को कैसे दृढ़ बनाएं

Prabha Joshi
19 Jan 2023
Relationship Tips: दूरियां बन जाएं नज़दीकियां जानें कुछ बिंदू

रिश्तों में प्यार के साथ सम्मान ज़रूरी है

Relationship Tips: रिश्तों में टकराव न हो इसके लिए सब प्रयत्न करते हैं और कारण के पीछे भी जाते हैं। क्या आप जानते हैं रिलेशनशिप में प्यार है लेकिेन आप प्यार जता कैसे रहे हैं, इसे कभी समझा है। बहुत बार ऐसा होता है कि रिश्तों में टकराहट के चलते बात-चीत बंद कर देते हैं। पर भला बात-चीत बंद कर आजतक कोई हल निकला है। हमारे रिश्ते में प्यार होता है पर छोटी-छोटी बातों में अक़सर बात बिगड़ जाती है। अब रिश्ता चाहें पति-पत्नि का हो, भाई-बहन या फ़्रेंड्स का। तो चलिए जाने किन बातों से रिश्तों की टकराहट दूर कर सकते हैं :-

  1. माफ़ करना सीखें : माफ़ कर देना एक बहुत बड़ी थेरेपी है, दवा है। किसी को माफ़ करना आसान नहीं होता। ऐसे में छोटी-छोटी बात से इतर कभी बड़ी बात में भी माफ़ कर दें। आप देखेंगे कि माफ़ कर देने से कितना बड़ा अंतर आया है। ग़लतियां होती रहती हैं। हां ध्यान रहे, बार-बार माफ़ कर देने से फिर माफ़ करने का मूल्य ख़त्म हो जाता है। ऐसे में माफ़ सोच समझकर करें।
  2. दूसरों की भी सुनें : अक़सर सुनने में आता है महिलाएं अपने आगे किसी की चलने नहीं देतीं। अपनी बात को मनवाने से पहले देखें दूसरा कह क्या रहा है। हो सकता है दूसरे की बस एक छोटी-सी बात सुनना आपके रिश्ते में फिर से बहार ले आए। अपनी बात को मनवाने से पहले दूसरों की बात भी सुनें। 
  3. सम्मान ज़रूरी है : अक़सर ऐसा होता है कि प्यार इतना ज़्यादा बढ़ जाता है कि लोग एक-दूसरे के प्रति सम्मान से बोलना भूल जाते हैं, सम्मान देना भूल जाते है। ऐसे में फिर धीरे-धीरे रिलेशनशिप में दूरियां आ जाती हैं। एक-दूसरे को प्यार के साथ सम्मान देने से रिश्ते लंबे अंतराल तक चलते हैं। 
  4. शब्दों का चयन सही रखें : हो सकता है आपका कोई शब्द दूसरे को अच्छा न लगता हो। ऐसे में दूसरा आपसे दूरी बनाकर रखेगा। इससे अच्छा है आप दूसरे को भी सुने और जाने उनकी भाषा-शैली क्या है, वो किस तरह बात करते हैं। हो सकता है आपका शब्द ज्ञान भी बढ़े। शब्द वही चुने जो दूसरों को चुभे न।
  5. बार-बार टोकना बंद करें : अगर आपको दूसरे की कोई आदत अच्छी नहीं लगती है, तो उसे प्यार से समझाएं। आप बताएं किस तरह वो चीज़ आपको अच्छी नहीं लगती है। आप अपनी कोई चीज़ बताएं जो दूसरे को अच्छी नहीं लगती। ऐसे में अच्छी अंडरस्टैंडिंग से बात बन सकती है।
  6. थोड़ा कॉम्प्रोमाइस ज़रूरी : हर रिलेशनशिप या रिश्ता एकदम परफ़ैक्ट नहीं होता। ऐसा में थोड़ा आपको और थोड़ा उन्हें कॉम्प्रोमाइस करना पड़ेगा। छोटी-छोटी बातों में बिगड़ने से अच्छा है इग्नोर करें। 
  7. एक-दूसरे को समय दें : रिश्ता चाहें कोई भी हो जब तक आप दूसरों को समय नहीं देंगे तब तक आप उन्हें समझेंगे नहीं। रिश्ते वही सफल होते हैं जिन्हें समय दिया होता है। समय देने से हम एक-दूसरे को समझते हैं। इससे गिले-शिकवे दूर होते हैं।

इस तरह उपर्युक्त बातों को ध्यान में रखकर आप रिश्तों की नोंक-झोंक से बच सकती हैं। आप ध्यान दें रिलेशनशिप में टकराव आने के पीछे कारण क्या है। धीरे-धीरे कारणों को जानकर आप ख़ुद छोटी-छोटी बात को आसानी से सुलझा सकेंगी। 

Read The Next Article