5 Best On-screen Parents: हर कोई चाहता है इनके जैसे पेरेंट्स

5 Best On-screen Parents: हर कोई चाहता है इनके जैसे पेरेंट्स 5 Best On-screen Parents: हर कोई चाहता है इनके जैसे पेरेंट्स

Sanjana

08 Jul 2022

इस बात को कोई नहीं झुठला सकता है कि बॉलीवुड में शुरू से ही पेरेंट्स को देसी और कठोर स्वभाव का दर्शाया गया है। जो काफी हद तक सच भी है लेकिन बॉलीवुड की कुछ नई फिल्में पेरेंटिंग के दूसरे पहलू को भी दिखाती है। ऐसी बहुत सी फिल्में हैं जिनमें ऑनस्क्रीन पेरेंट्स बहुत ही इंस्पायरिंग और सपोर्टिव दिखाए गए हैं।

सच कहें तो यह पेरेंट्स खुद पर केंद्रित फिल्में डिजर्व करते हैं। इन्हें देख कर हर कोई अपने पेरेंट्स को इनसे रिलेट कर पाता है। यह पेरेंट्स लोगों के फेवरेट बन चुके हैं और इसलिए इन पर केंद्रित फिल्में बन्नी ही चाहिए। इन्हें देखकर हर कोई चाहता है कि उनके पेरेंट्स भी इतने ही सपोर्टिव और सुलझे हुए हो।

बेस्ट ऑन स्क्रीन पेरेंट्स -

1. कुसुम और संतोष (दो दूनी चार)

बॉलीवुड की फिल्म दो दूनी चार में ऋषि कपूर और नीतू कपूर ने कुसुम और संतोष का किरदार निभाया है। एक देसी फैमिली से होने के बावजूद भी वे दोनों अपने बच्चे को बहुत अच्छे से समझते हैं। इस मिडल क्लास फैमिली के ऊंची सोच वाले देसी पेरेंट्स ने फिल्म में कॉमेडी भी खूब की है। अगर इनकी बायोग्राफी की फिल्म बनाई जाए तो वह भी बहुत रोमांचक होगी।

2. मीता और राज (हिंदी मीडियम)

हिंदी मीडियम फिल्म में मीता और राज बहुत ही डेडीकेटेड पेरेंट्स हैं। वे अपनी बच्ची से बहुत प्यार करते हैं और उसके लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है। अगर अपने बच्चे और उसकी पढ़ाई की चिंता की बात की जाए तो वह भी हमारे पेरेंट्स की तरह ही है जो मुसीबत के समय एक साथ होकर उसका सामना करते हैं।

3. शिवानी और संजय (ये जवानी है दीवानी)

इस फिल्म ने लोगों को दोस्ती का महत्व तो सिखाया ही है लेकिन पेरेंट्स की भी एक गजब मिसाल दी है। पूरी फिल्में केवल 10 मिनट के रोल के बावजूद भी इन दोनों ने लोगों के दिलों में घर बना लिया। 

किसी भी दूसरे देसी पिता की तरह वह भी अपने प्यार को एकदम अनोखे तरीके से प्रदर्शित करते हैं। पूरी रात जागकर वह बनी का इंतजार करते हैं ताकि वह उसे बता सके कि कुछ भी हो वह हमेशा उसके साथ हैं और वह अपनी जिंदगी जीने के लिए आज़ाद है।

4. सुशीला और नर्रोतम (बरेली की बर्फी)

नरोत्तम अपनी बेटी के साथ छुप छुप के सिगरेट पीने से लेकर उसके लिए पूरे समाज से लड़ने तक, उसके साथ खड़ा रहता है। बाप और बेटी की यह जोड़ी लोगों के लिए बहुत ही इंस्पायरिंग है। जो पेरेंट्स शुरू में रूढ़िवादी सोच रखते थे उन्होंने यह दिखा दिया कि वह वक्त के साथ बदलना जानते हैं और अपने बच्चों के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

5. चकरी और मंजू (खूबसूरत)

पेरेंट्स की यह जोड़ी मजाकिया, फन, रोमांचक और सपोर्टिंग सब कुछ है। इतनी सारी खासियत के साथ यह सबसे ज्यादा चिल ऑनस्क्रीन पेरेंट्स बन गए। लेकिन मजाक के साथ में उन्होंने अपने बच्चों को कॉन्फिडेंट रहना और मुसीबतों का सामना करना भी सिखाया। और जरूरत पड़ने पर खुद ही उनकी मुसीबतों से लड़ गए।

अनुशंसित लेख