डिलीवरी के बाद Pregnancy Belt का इस्तेमाल करने की सलाह क्यों दी जाती है?

Apurva Dubey
15 Oct 2022
डिलीवरी के बाद Pregnancy Belt का इस्तेमाल करने की सलाह क्यों दी जाती है?

प्रेगनेंसी के दौरान, पुरे 9 महीने एक नन्ही सी जान को अपने शरीर में जगह देना वाकई किसी जादू से कम नहीं है। प्रेगनेंसी जर्नी में एक महिला में काफी बदलाव आता है। यह वह सफर है जब महिला अब एक बहन, बेटी , पत्नी और बहु के अलावा माँ बनने जा रही होती है। प्रेगनेंसी में आपका शरीर काफी हद तक बदल जाता है और डिलीवरी के बाद वापस अपने शरीर को पहले की अवस्था में लेकर आना, काफी मुश्किल हो जाता है। यही कारण है कि कई महिलाएं डिलीवरी के बाद अपना खास ध्यान नहीं रखती और उनकी बॉडी फ़ैल जाता है। आज हम बात करेंगे Pregnancy Belt की- यह एक डॉक्टर का रेकमेंडेड बेल्ट है, डिलीवरी के बाद आपके पेट के निकले हुए हिस्से को दुबारा आपकी बॉडी में सेट होने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।    

डिलीवरी के बाद Pregnancy Belt का इस्तेमाल करने की सलाह क्यों दी जाती है? 

डिलीवरी के बाद, पहले दो से तीन हफ्तों में जितना हो सके आराम करें। याद रखें कि आपकी बॉडी 9 महीनों से तरह तरह के बदलाव और कष्टों से गुजारी है, इसीलिए आपक जितना उसको आराम देंगे, उतना ही बेहतर होगा। पोस्टपार्टम बेली फैट की चिंता है महिला को होती है, प्रेगनेंसी के बाद अचानक पेट का बहार की तरफ निकल जाना अजीब होता है। ऐसे में ककुछ हफ्ते आराम करने के बाद आप Pregnancy Belt या Belly Binding पर विचार कर सकती हैं। 

सोशल मीडिया पर इस कांसेप्ट को अभी अभी इंट्रोड्यूज किया गया है, लेकिन बेली बाइंडिंग का यह कांसेप्ट सदियों पुराना है। बेली बाइंडिंग में आपके पेट के चारों ओर एक सामग्री (आमतौर पर कपड़ा) लपेटना शामिल है। सामग्री को आमतौर पर कसकर लपेटा जाता है और सहायता प्रदान करने और आपके पेट को रखने में मदद करता है।

सिजेरियन डिलीवरी और Pregnancy Belt

खासकर यदि आपकी सिजेरियन डिलीवरी हुई है, तो प्रसवोत्तर रिकवरी अवधि के दौरान बेली बाइंडिंग एक उपयोगी उपकरण हो सकता है। वजाइनल डिलीवरी के विपरीत, सी-सेक्शन में मांसपेशियों की कई परतों को काटने की आवश्यकता होती है। बेली बाइंडिंग यह सुनिश्चित करने में मदद कर सकती है कि आपका चीरा ठीक से ठीक हो जाए।

रिकवरी की अवधि उन महिलाओं के लिए धीमी और अधिक असहज हो सकती है, जिनका सी-सेक्शन हुआ है और जिन्होंने वजाइनल डिलीवरी कराया है। यहां अच्छी खबर है: एक अध्ययन में पाया गया कि जिन महिलाओं ने सी-सेक्शन द्वारा डिलीवरी कराया और पोस्टपार्टम रिकवरी के दौरान बेली बाइंडिंग का अभ्यास किया और प्रेगनेंसी बेल्ट का इस्तेमाल किया, उन्हें सी-सेक्शन वाली महिलाओं की तुलना में कम दर्द, ब्लीडिंग और परेशानी का अनुभव हुआ।

अनुशंसित लेख