Advertisment

Drumstick: शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहतर हैं सहजन की फलियां

हैल्थ : अपने आकार में विशाल सहजन का पेड़, अपनी लंबी-लंबी फलियों से पहचाना जाता है। इसकी फलियों का आकार लगभग आधे हाथ बराबर या उससे बड़ा रहता है। इसकी फलियों को उबालकर, पत्तों को सुखाकर या सब्जी बनाकर खाया जाता है।

author-image
Prabha Joshi
New Update
सहजन के फायदे

सहजन के फायदे हैं अनेक

Drumstick: सहजन जिसे मुनगा, मोरिंगा या ड्रमस्टिक भी कहा जाता है, अपने गुणों में बहुत आगे होता है। सहजन की सब्जी किसे अच्छी नहीं लगती? घरों में सहजन की सब्जी बहुतायत में बनाई जाती है। विशेषज्ञों की मानें तो सहजन का पेड़ एक ऐसा पेड़ है जिसके फल, पत्तों और जड़ों आदि का आयुर्वेद में बहुत लाभ है। सहजन के इस्तेमाल से शारीरिक और मानसिक समस्याओं को दूर किया जा सकता है। सहजन की तासीर गरम होती है।

Advertisment

अपने आकार में विशाल सहजन का पेड़, अपनी लंबी-लंबी फलियों से पहचाना जाता है। इसकी फलियों का आकार लगभग आधे हाथ बराबर या उससे बड़ा रहता है। इसकी फलियों को उबालकर, पत्तों को सुखाकर या सब्जी बनाकर खाया जाता है। अपने गुणों के कारण सहजन की फलियों की मांग सब्जी बाजार में बहुत ज्यादा होती है।साइनोवियल फ्लूड 

सहजन के क्या फायदे हैैं

स्वास्थ्य के एंगल से सहजन को आहार में शामिल करना बहुत अच्छा है। इसके निम्न फायदे हैं :-

Advertisment
  • गठिया के लिए लाभकारी : सहजन का प्रयोग गठिया में करने से गठिया रोग में लाभ पहुंचता है। इसके लिए सहजन की फली को उबालकर इसका सूप पिया जाता है। 
  • शारीरिक दर्द में लाभकरी : सहजन में एंटीइनफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। ये गुण शरीर में किसी भी तरह की सूजन से बचाव करते हैं। दर्द निवारक होने से सहजन खाने से शारीरिक सूजन और दर्द में लाभ मिलता है।  
  • हृदय स्वास्थ्य के लिए बेहतर : सहजन को खाने से शरीर में हृदय संबंधी समस्याएं दूर होती हैं। इसमें पोटेशियम पाया जाता है जिससे हृदय में किसी भी तरह की समस्या से छुटकारा मिलता है।
  • मोटापा दूर करे : सहजन शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है। इसमें मौजूद फाइबर शरीर में पाचन को बेहतर बनाए रखता है जिससे मोटापे संबंधी समस्या नहीं होती। 
  • खून साफ करता है : सहजन का इस्तेमाल शरीर में खून को साफ करता है। जिन लोगों को त्वचा संबंधी समस्या है, सहजन का प्रयोग करें। सहजन को खाने से खून की कमी दूर  होती है। इसमें मौजूद विटामिन सी त्वचा के लिए अच्छा होता है। हालांकि जिन्हें गर्मी से समस्या है, वो सहजन के इस्तेमाल से बचें। 
  • शुगर लेवल को कंट्रोल करे : सहजन की फली में शुगर लेवल को कंट्रोल करने की शक्ति होती है। ऐसे में सहजन का इस्तेमाल डॉयबिटीज के रोगियों के लिए लाभकारी है। 
  • तनाव को दूर करता है : सहजन के इस्तेमाल से मानसिक तनाव से छुटकारा मिलता है। ये मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। 

इस तरह देखा जा सकता है कि सहजन का इस्तेमाल संपूर्ण शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है। किसी भी रूप में सहजन को आहार में शामिल करने से इसका फायदा शरीर को पहुंचता है। हालांकि इसको बनाते समय इसके छिक्कल निकाल लेने चाहिएं या चूसकर फेंक देने चाहिएं।  

चेतावनी : प्रदान की जा रही जानकारी केवल सूचनात्मक उद्देश्य से है। कुछ भी प्रयोग में लेने से पूर्व चिकित्सा विशेषज्ञ से अवश्य परामर्श लें।

मोरिंगा ड्रमस्टिक सहजन की सब्जी सहजन Drumstick
Advertisment