Advertisment

Sex Talk: पोर्न देखना बन सकता है सेक्स समस्याओं का कारण, जानिए कैसे?

पोर्न देखना आज कल के समय में एक आम बात है। लोग अपने मोबाइल या अन्य डिवाइसेज के जरिये इन्टरनेट की अलग-अलग वेबसाइट पर उपलब्ध एडल्ट फिल्में देखते हैं। आइये जानते हैं कि कैसे पोर्न सेक्स समस्याओं का कारण बन सकता है।

author-image
Priya Singh
New Update
Myths About Porn

(Image Credit: Freepik)

How Watching Porn Can Be The Cause Of Sex Problems: पोर्न देखना आज कल के समय में एक आम बात है। लोग अपने मोबाइल या अन्य डिवाइसेज के जरिये इन्टरनेट की अलग-अलग वेबसाइट पर उपलब्ध एडल्ट फिल्में देखते हैं। कुछ इसे अपने एन्जॉय करने के लिए देखते हैं तो कुछ मास्टरबेसन के लिए। लेकिन जबकि हमारे देश में लोगों को सेक्स एजुकेशन नहीं दी जाती है जिसके कारण पोर्न देखना जहाँ कुछ लोगों के लिए सिर्फ एक मनोरंजन का कारण हो सकता है तो कुछ अपने पार्टनर या अपने सेक्सुअल रिलेशन में अनरियलिस्टिक एक्सपेक्टेसन रख सकते हैं जो कि उनके रिश्ते और पार्टनर के साथ उनके खुद के लिए भी खतरनाक साबित हो सकता है और उनके जीवन में सेक्स से जुड़ी समस्याओं का कारण बन सकता है। आइये जानते हैं कि कैसे पोर्न सेक्स समस्याओं का कारण बन सकता है। 

Advertisment

Sex Talk: पोर्न देखना बन सकता है सेक्स समस्याओं का कारण, जानिए कैसे?

1. अनरियलिस्टिक एक्सपेक्टेसन

पोर्न अक्सर अत्यधिक शैलीबद्ध और अतिरंजित सेक्सुअल एक्टिविटीज को दर्शाता है जो वास्तविक जीवन की अंतरंगता का सटीक प्रतिनिधित्व नहीं कर सकता है। इससे सेक्स कैसा होना चाहिए, इसके बारे में अवास्तविक उम्मीदें पैदा हो सकती हैं, जिससे व्यक्ति को अपने यौन अनुभवों से निराशा या असंतोष हो सकता है।

Advertisment

2. असंवेदनशीलता

अश्लील कंटेंट के अत्यधिक संपर्क से व्यक्ति यौन उत्तेजनाओं के प्रति असंवेदनशील हो सकता है, जिससे वास्तविक जीवन में सेक्सुअल एक्टिविटीज से उत्तेजित होना अधिक कठिन हो जाता है। इससे पार्टनर्स सेक्स के दौरान उत्तेजना प्राप्त करने या बनाए रखने में कठिनाई हो सकती है, जिसे अक्सर स्तंभन दोष या सेक्सुअल प्लेजर तक पहुंचने में कठिनाई के रूप में जाना जाता है।

3. प्रदर्शन संबंधी चिंता

Advertisment

पोर्नोग्राफ़ी में आदर्शीकृत और अक्सर अतिरंजित सेक्सुअल एक्टिविटीज का प्रदर्शन लगातार संपर्क व्यक्तियों के लिए प्रदर्शन चिंता पैदा कर सकता है, खासकर यदि वे स्क्रीन पर जो देखते हैं उसे दोहराने के लिए दबाव महसूस करते हैं। यह चिंता सेक्सुअल परफोरमेंस और प्लेजर को बाधित कर सकती है।

4. रिश्तों पर प्रभाव

अत्यधिक पोर्न देखने से रिश्तों पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। यदि एक या दोनों व्यक्ति वास्तविक जीवन में यौन संबंधों के बजाय सेक्सुअल कंटेंट को प्राथमिकता देते हैं तो इससे पार्टनर के साथ इंटिमेसी और भावनात्मक संबंध में कमी आ सकती है। इसके अलावा पोर्न देखने के बारे में गोपनीयता या बेईमानी रिश्ते के भीतर विश्वास और संचार को खत्म कर सकती है।

Advertisment

5. कामुकता के विकृत दृष्टिकोण

पोर्नोग्राफी अक्सर मानव कामुकता का एक संकीर्ण और अवास्तविक चित्रण प्रस्तुत करती है, जो मुख्य रूप से शारीरिक संतुष्टि पर ध्यान केंद्रित करती है और अक्सर भावनात्मक अंतरंगता और आपसी सम्मान की उपेक्षा करती है। इस तरह के चित्रणों के संपर्क में आने से कामुकता के बारे में व्यक्तियों की समझ इस तरह से आकार ले सकती है जो अस्वस्थ या स्वस्थ यौन संबंधों के साथ असंगत हो सकती है।

Disclaimer: इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद जानकारी केवल आपकी जानकारी के लिए है। हमेशा चिकित्सा या स्वास्थ्य संबंधी निर्णय लेने से पहले किसी एक्सपर्ट से सलाह लें।

Watching Porn Sex Talk Cause Of Sex Problems sex problems
Advertisment