जानिए ज्यादा नमक के इस्तेमाल से होने वाली परेशानियों के बारे में

जानिए ज्यादा नमक के इस्तेमाल से होने वाली परेशानियों के बारे में  जानिए ज्यादा नमक के इस्तेमाल से होने वाली परेशानियों के बारे में

Swati Bundela

11 Jul 2022

नमक वैसे तो हमारे खाने का एक अहम् हिस्सा है। खाने में थोड़ा ज्यादा नमक हो तो उसे चटकार कह कर खा लिया जाता है लेकिन कम नमक वाले खाने को लोग बिलकुल नहीं पसंद करते। नमक हमारे शरीर के लिए जरुरी तो है ही लेकिन इसकी अधिकता आपके सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है। आइए जानें कि खाने में ज्यादा नमक का सेवन करने वाले लोगों कोक्या क्या परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।  

जानिए ज्यादा नमक के इस्तेमाल से होने वाली परेशानियों के बारे में 

  • खाने में ज्यादा नमक का सेवन आपके मांसपेशियों में दर्द की वजह बन सकता है। मांसपेशियों में ज्यादा नमक के कारण कंट्रक्शन की समस्या उत्पन्न होती है जिससे बाद में स्ट्रेस वगैरह के के कारण लोगों को मांसपेशियों में दर्द की शिकायत होती है।
  • बड़े बुजुर्ग कहते हैं कि ज्यादा नमक का सेवन हड्डियां कमजोर कर देता है। जी हा ! यह सच है। अधिक नमक हमारी हड्डियों को कमजोर बना देता है। लोग कहते है कि नामक खाने से हड्डियां गलने लगती हैं। यह गलना हड्ड़ियों का नहीं बल्कि हमारी हड्डियों में मौजूद कैल्सियम का होता है।  ज्यादा नमक से कैल्सियम का क्षरण होने लगता है और हड्डिया गाल कर कमजोर पड़ जाती हैं। 
  • ज्यादा नमक से लोगों में अक्सर एडिमा की समस्या सामने आती है। एडिमा का अर्थ है शरीर के अलग अलग हिस्सों में सूजन। लोग इसे मोटापा का संकेत समझते हैं लेकिन अजीब तरीके से किस स्पेसिफिक जगह पर सूजन आना असल में एडिमा की निशानी है। यह एडिमा असल में ज्यादा नमक खाने से होता है। 
  • आजकल लोगों को बीपी की समस्या होती है। छोटे बच्चे से लेकर बड़े बुजुर्ग तक आजकल तो बीपी की समस्या नार्मल हो गयी है। गलत खानपान के कारण ऐसा होता है। यदि आपको भी बीपी की समस्या है तो नमक के सेवन पर लगाम लगाएं। ब्लड प्रेशर की समस्या में नमक का इस्तेमाल सोच समझ कर और डॉक्टर की सलाह पर ही लें।  
  • डिहाईड्रेशन भी नमक के ज्यादा सेवाव के कारण होने वाली समस्या में से एक है। नमक में सोडियम होता है जिसके अधिक सेवन से शरीर में ज्यादा से ज्यादा पसीना आता है और यूरिनाशन भी अधिक होता है। इससे आपके शरीर से वाटर कंटेंट ज्यादा लॉस होता है और आपको डिहाईड्रेशन की परेशानी का सामना करना पड़ता है।    

अनुशंसित लेख