Mental Health Errors:इन मेंटल हेल्थ प्रभावित करने वाली गलतियों से बचें

Monika Pundir
17 Aug 2022
Mental Health Errors:इन मेंटल हेल्थ प्रभावित करने वाली गलतियों से बचें

कोविड महामारी और लॉकडाउन के बाद मेन्टल हेल्थ के विषय में जागरूकता बढ़ रही है। लोग इस विषय के प्रति संवेदनशील हो रहे हैं। हम सब चाहते हैं की हमारा अपना और हमारे प्रियजनों का मेंटल और फिज़िकल हेल्थ अच्छा हो, पर हम जानते नहीं की यह कैसे किया जाये। इस ब्लॉग में पढ़े मेन्टल हेल्थ की गलतियाँ जिसे हमें नहीं करना चाहिए।

इन मेंटल हेल्थ प्रभावित करने वाली गलतियों से बचें: 

1. पर्याप्त नींद नहीं लेना

नींद और जागने के चक्र को बनाए रखने से एक स्वस्थ शारीरिक और मनोवैज्ञानिक फंक्शन होता है। सभी के लिए एवरेज 6-8 घंटे नींद की आवश्यकता होती है। नींद तनाव को कम करने और होमियोस्टैसिस को बनाए रखने में मदद करती है। यदि आप अपनी दैनिक नींद पूरी नहीं कर रहे हैं, तो आपको मानसिक स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

2. सोशल मीडिया स्क्रॉलिंग

एक व्यक्ति पूरे दिन सोशल मीडिया पर स्क्रॉल कर सकता है, शायद अन्य लोगों के लेटेस्ट समाचार, प्रवृत्तियों या सामाजिक जीवन के साथ बने रहने के लिए। यह चिंता और निराशा के बढ़ते लक्षणों में महत्वपूर्ण योगदान देता है। लोग अक्सर अपने जीवन और रूप को सोशल मीडिया में दिख रहे तस्वीर से तुलना करते हैं। 

3. अपने लक्षणों के बारे में Google खोज

अपने लक्षणों या अनुभवों पर चर्चा करने के लिए किसी विशेषज्ञ के पास जाने से समस्या के बारे में जानकारी मिलती है। Google खोज किसी भी समस्या के निदान का प्रामाणिक तरीका नहीं है। एक व्यक्ति कुछ दुख का अनुभव कर रहा हो सकता है, इसका मतलब यह नहीं है कि वह डिप्रेशन में है। इस प्रकार, डॉक्टर्स समस्याओं को सुधारने और उनका सामना करने में सहायता प्रदान करती है।

4. मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित किसी भी लक्षण को नजरअंदाज करना 

रेगुलर सिर दर्द, मनोदशा में असंतुलन, नींद में खलल आदि के लक्षणों को अनदेखा करने से मदद नहीं मिलेगी। बुनियादी लक्षणों से बचने या अनदेखी करने से जटिलताएं पैदा हो सकती हैं क्योंकि समय के साथ समस्याओं की तीव्रता बढ़ती है, जिससे रोग और ख़राब हो सकता है।

5. आनंददायक गतिविधि में शामिल न होना

आज की दुनिया में इस प्रतिस्पर्धी जीवन शैली को जीने के लिए, एक व्यक्ति को कई मांगें पूरी करनी होती हैं। इस प्रकार, खुशी और आनंद प्रदान करने वाली चीजों के लिए समय निकालना मानसिक कल्याण के लिए उपयोगी है। नियमित रूप से ब्रेक लेना भी व्यक्ति के लिए कल्याण और खुशी को बढ़ावा देता है।

6. वर्क लाइफ बैलेंस की कमी

अपने प्रोफेशनल और व्यक्तिगत जीवन के बीच भेद रखना बहुत ज़रूरी है। हमारे काम और हमारे मी-टाइम, परिवार के साथ समय, पार्टनर के साथ समय और दोस्तों के साथ समय बिताने का एक अच्छा और स्वस्थ बैलेंस होने से आपका मेन्टल हेल्थ भी स्वस्थ रहेगा। इसके विपरीत, काम में अत्यधिक समय देने से आपको स्ट्रेस और अन्सिएटी का सामना करना पड़ सकता है।

अनुशंसित लेख