Signs of Depression: डिप्रेशन की यह 7 संकेत न करें नजरअंदाज

Swati Bundela
01 Oct 2022
Signs of Depression: डिप्रेशन की यह 7 संकेत न करें नजरअंदाज

आजकल रोजमर्रा की जिंदगी मे लोग तनाव और डिप्रेशन से जुझ रहे हैं जो की एक चिंताजनक विषय है। क्योंकि डिप्रेशन के लक्षण पहचानना मुश्किल होता है। आइए जानते हैं डिप्रेशन के सात संकेत जिन्हें आपको कभी अनदेखा नहीं करना चाहिए।

1. सोने का तरीका

नींद के दौरान होने वाली कठिनाई डिप्रेशन का लक्षण है। नींद में कठिनाई होना, रात के दौरान बेचैनी होना और सुबह उठने की इच्छा ना होना ये सारे लक्षण डिप्रेशन की और संकेत करते हैं। जिस के कारण आप अपने दिन को प्रोडक्टिव तरीके से इस्तेमाल नही कर पाते हैं और आपका  दिमाग किसी भी एक जगह पर फोकस नही कर पाते हैं। इसलिए नींद के पैटर्न पर ध्यान देना महत्वपूर्ण हैं।

2. लगातार सोचना और तनाव

अधिक चिंता और हर समय सोचना कम आत्मसम्मान का कारण बन सकता है। निरंतर तनाव का नतीजा नकारात्मक हो सकता है। यह लगातार होने की वजह से व्यक्ति अपनी क्षमताओं पर सक करने लगता है और अपने आप से प्रशन पूछता है, 'मैं ही क्यों है?', "मुझे इतना बुरा क्यो लगता है?" "मैं ऐसा क्यों नही कर सकता?" आदि इसलिए अपने आप को शांत रखना जरूरी है।

3. भ्रम और अनिश्चितता

हर कदम पर भ्रर्मित होना और हर समय अपनी क्षमताओं पर शक करना, बार-बार भूलना यह सब डिप्रेशन के संकेत साबित हो सकते है। यह जानना है महत्वपूर्ण है कि अगर यह संकेत बार-बार हो रहे हैं तो आप डिप्रेशन का शिकार है।

4. सामाजिक वापसी और अभिव्यक्ति

यदि कोई व्यक्ति जो पहले सामाजिक गतिविधियों में सहभागी हुआ करता था और अब अचानक अपने आप को समाज से अलग करने लगे, यह डिप्रेशन का लक्षण है जिसे पहचानना चाहिए और इलाज किया जाना चाहिए।

5. भूख की कमी

डिप्रेशन के दौरान हर किसी व्यक्ति में भूख को लेकर अलग-अलग लक्षण देखे जाते है
• अधिक भूख लगना या भूख ही ना लगना
• वजन बढ़ना या वजन कम होना
• पूरा दिन कुछ खाते रहना था कुछ ना खाना

6. स्वास्थ्य खराब होना और दर्द महसूस करना

डिप्रेशन के कारण शारीरिक और मानसिक तनाव बढ़ जाता है। इन मामलो मे सिरदर्द, पेट या पीठ दर्द जैसी कुछ शारीरिक बीमारियां सामने आती हैं। यहां समस्या यह हैं कि कुछ लोग केवल शारीरिक पीड़ा के लिए अपने डॉक्टर के पास जाते हैं और इसलिए डिप्रेशन का निदान कभी नहीं हो पाता है।

7. डिप्रेशन के कुछ अन्य लक्षण

• गुस्सा

कभी-कभी गुस्सा या मूड स्विंग्स होना अलग बात है। लेकिन अगर आपके साथ अक्सर बिना किसी वैध कारण ऐसा होता है, या लंबे समय ने आप उदासी या गुस्से से घिरे हुए हैं तो आप डिप्रेशन के शिकार हो सकते है।

• सोशल मीडिया की लत

यह चीज आज की नई युवा पीढ़ी में बहुत देखी जाती है। आज की युवा पीढ़ी लगातार अपने सोशल मीडिया की ओर आकर्षित है। वह पूरा समय अपने मोबाइल में कोई ना कोई अपडेट देखते रहते हैं। सोशल मीडिया की लत के कारण युवाओं मे शारीरिक, मानसिक और सेल्फ डाउट के लक्षण सामने आते हैं जो की डिप्रेशन के लक्षण भी है।

अनुशंसित लेख