Low Estrogen: लो एस्ट्रोजेन लेवल के लक्षण

महिलाओं का जब मेनोपाज़ का समय नजदीक होता है तो उसी समय उनके अंदर एस्ट्रोजेन हार्मोन की कमी दिखाई देने लग जाती है। आइए इस हैल्थ ब्लॉग से जाने लो एस्ट्रोजन के लक्षण

Amrita Kumari
25 Jan 2023
Low Estrogen: लो एस्ट्रोजेन लेवल के लक्षण

एस्ट्रोजन

Low Estrogen: महिलाओं का जब मेनोपाज़ का समय नजदीक होता है तो उसी समय उनके अंदर एस्ट्रोजेन हार्मोन की कमी दिखाई देने लग जाती है। 40 से 45 वर्ष की उम्र में ही इस सिलसिले की शुरुआत होती है और उसी समय महिलाओं के अंदर एस्ट्रोजन हार्मोन की कमी दिखाई देने लग जाती है। एस्ट्रोजेन की वजह से महिलाओं के अंदर नियमित रूप से पीरियड्स आ रहे होते हैं। अगर इसकी मात्रा में कमी होती है तो महिलाओं के अंदर कभी भी नियमित रूप से  पीरियड्स नहीं आते हैं और हमें कई समस्याओं का सामना करना पड़ जाता है जैसे कि थायराइड, कैंसर आदि यही मुख्य कारण है जिसकी वजह से एस्ट्रोजन हार्मोन की हमारे शरीर में कमी होने लग जाती है। यही महिलाओं के अंदर प्रोजेस्टेरोन हार्मोन के साथ मिलकर हमारे पीरियड्स को सुचारू रूप से चलने में मदद करता है और साथ में हमारे सेक्स लाइफ को भी हैल्थी रखने में मदद करता है। तो आइए इस आर्टिकल के माध्यम से जानते हैं कि महिलाओं के अंदर लो एस्ट्रोजेन हार्मोन के लक्षण क्या-क्या होते हैं?

1.पीरियड्स में कमी
पीरियड्स को नियमित रूप से आने के लिए एस्ट्रोजेन हार्मोन का बहुत बड़ा योगदान होताै। अगर हमारे शरीर में  एस्ट्रोजेन हार्मोन की कमी हो गई तो हमारे पीरियड्स की संतुलन भी बिगड़ सकती है और यही एक वजह है जिसके कारण हमारे यूटरिन लाइन पतली हो जाती है और इसकी वजह से ही हमारे पीरियड्स अनियमित रूप से आने लग जाते हैं या कभी-कभी यह भी सिचुएशन देखते को मिलती है कि पीरियड्स आना बिल्कुल ही बंद हो जाता है।

2.लो सेक्स ड्राइव
आपको सुनकर हैरानी होगी, लेकिन यह सत्य है कि महिलाओं के अंदर लो सेक्स ड्राइव का मुख्य कारण यह है की उनके अंदर एस्ट्रोजेन हार्मोन की कमी हो जाना जिसकी वजह से उनका सेक्स ड्राइव लो हो जाता है। अगर आपकी सेक्स ड्राइव बहुत ही ज्यादा लो होती जा रही है तो इसका मुख्य कारण यही है कि आपके शरीर के अंदर एस्ट्रोजेन हार्मोन की कमी हो गई है। इसलिए आपको तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

3.थकान होना
जब हमारे एस्ट्रोजेन हार्मोन सही ढंग से काम नहीं करते हैं या फिर हमारे एस्ट्रोजन हार्मोन शरीर में कम मात्रा में हो जाते हैं तो उसी समय हमें बहुत ही ज्यादा थकान और आलस्यपन महसूस होता है। ऐसा होने पर हमें तुरंत ही डॉक्टर को दिखाना चाहिए और सुचारु रुप से अपना इलाज करवाना चाहिए।

4.हेयर फॉल 
जब हमारे शरीर में हार्मोन का मात्रा असंतुलि हो जाता है तो हमारे बाल झड़ने लग जाते हैं। इसे हमें गंभीर रूप से ध्यान देना चाहिए और तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। बहुत लोग अपनी लापरवाही के कारण यह समझते हैं कि बाल झड़ना ऐसे ही आम बात है, लेकिन इस बात को गहराई से सोच कर तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करें।

चेतावनी : प्रदान की जा रही जानकारी केवल सूचनात्मक उद्देश्य से है। कुछ भी प्रयोग में लेने से पूर्व चिकित्सा विशेषज्ञ से अवश्य परामर्श लें।

Read The Next Article