Advertisment

ये कंडीशंस महिलाओं की Mental Health को बनाती हैं बदतर

महिलाओं को अपने जीवन में अक्सर कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है ये चुनौतियाँ उनके जीवन के साथ ही मानसिक स्थिति पर भी असर डालती हैं। आइये जानते हैं ऐसी चीजों के बारे में जो महिलाओं की मेंटल हेल्थ को बना सकती हैं बदतर।

author-image
Priya Singh
New Update
Poor Mental Health (Freepik)

(Image Credit: Freepik)

These Conditions Make Women's Mental Health Worse: महिलाओं को अपने जीवन में अक्सर कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है ये चुनौतियाँ उनके जीवन के साथ ही मानसिक स्थिति पर भी असर डालती हैं। महिलाओं का मानसिक स्वास्थ्य विभिन्न कारकों से प्रभावित होता है जो तनाव, चिंता और अन्य मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को बढ़ा सकते हैं। महिलाओं के लिए मानसिक स्वास्थ्य सहायता को संबोधित करने और उसमें सुधार करने के लिए इन स्थितियों को समझना महत्वपूर्ण है। आइये जानते हैं ऐसी चीजों के बारे में जो महिलाओं की मेंटल हेल्थ को बना सकती हैं बदतर।

Advertisment

ये कंडीशंस महिलाओं की मेंटल हेल्थ को बनाती हैं बदतर

1. लिंग आधारित हिंसा

घरेलू दुर्व्यवहार, यौन उत्पीड़न और उत्पीड़न सहित लिंग आधारित हिंसा का महिलाओं के मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है। पीड़ित अक्सर पीटीएसडी, डिप्रेसन और चिंता जैसे दीर्घकालिक मनोवैज्ञानिक प्रभावों से पीड़ित होती हैं। ऐसी हिंसा के आघात से आत्म-सम्मान की हानि और दीर्घकालिक तनाव हो सकता है।

Advertisment

2. सामाजिक आर्थिक असमानताएँ

महिलाएं गरीबी और आर्थिक अस्थिरता से असमान रूप से प्रभावित होती हैं। वित्तीय तनाव और अपने परिवार का भरण-पोषण करने का दबाव महत्वपूर्ण मानसिक स्वास्थ्य चुनौतियों का कारण बन सकता है। बुनियादी जरूरतों को पूरा करने की निरंतर चिंता दीर्घकालिक चिंता और डिप्रेसन का कारण बन सकती है।

3. कार्यस्थल असमानता

Advertisment

प्रगति के बावजूद, महिलाओं को अभी भी कार्यस्थल पर महत्वपूर्ण भेदभाव का सामना करना पड़ता है, जिसमें वेतन अंतर, कम पदोन्नति के अवसर और पारिवारिक जिम्मेदारियों के साथ काम को संतुलित करना शामिल है। यह असमानता अपर्याप्तता, तनाव और जलन की भावनाओं को जन्म दे सकती है। पक्षपातपूर्ण माहौल में खुद को साबित करने का दबाव भारी पड़ सकता है।

4. देखभाल की जिम्मेदारियाँ

महिलाएं अक्सर बच्चों, बुजुर्ग माता-पिता या बीमार परिवार के सदस्यों की प्राथमिक देखभाल की भूमिका निभाती हैं। देखभाल की भावनात्मक और शारीरिक माँगें देखभाल करने वाले को जलन का कारण बन सकती हैं, जो गंभीर तनाव, चिंता और डिप्रेसन की विशेषता है। करियर और देखभाल दोनों जिम्मेदारियों के प्रबंधन का यह दोहरा बोझ मानसिक स्वास्थ्य पर काफी दबाव डाल सकता है।

Advertisment

5. प्रजनन स्वास्थ्य मुद्दे

मासिक धर्म, गर्भावस्था, प्रसव और मेनोपॉज जैसे प्रजनन स्वास्थ्य मुद्दे मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। पोस्टपार्टम डिप्रेसन, प्रीमेन्स्ट्रुअल डिस्फोरिक डिसऑर्डर (पीएमडीडी) और बांझपन से संबंधित चिंता जैसी स्थितियों के मानसिक स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ सकते हैं। इन अवधियों के दौरान होने वाले हार्मोनल परिवर्तन भी मूड संबंधी विकारों में योगदान कर सकते हैं।

6. सांस्कृतिक और सामाजिक अपेक्षाएँ

भूमिकाओं, रूप-रंग और व्यवहार के संबंध में सामाजिक दबाव और सांस्कृतिक अपेक्षाएँ महिलाओं के मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती हैं। सौंदर्य और व्यवहार के अवास्तविक मानकों के अनुरूप होने का दबाव कम आत्मसम्मान, खाने के विकार और दीर्घकालिक तनाव को जन्म दे सकता है। ये सामाजिक दबाव अक्सर अपर्याप्तता की निरंतर भावना पैदा करते हैं।

Disclaimer: इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद जानकारी केवल आपकी जानकारी के लिए है। हमेशा चिकित्सा या स्वास्थ्य संबंधी निर्णय लेने से पहले किसी एक्सपर्ट से सलाह लें।

mental health मानसिक स्थिति Women's Conditions
Advertisment