Advertisment

Low Libido: जानें महिलाओं में लिबिडो के कम होने के क्या कारण हैं?

कामवासना या लिबिडो का अर्थ है- मैथुन या सेक्स की तीव्र इच्छा। हमारे समाज में जहां सेक्स से संबंधित विषय पर बात करना टैबू समझा जाता हो, लिबिडो जैसे शब्द तो बहुत कम इस्तेमाल होते हैं। महिला को सेक्स की इच्छा होना आज भी सामान्य नहीं समझा जाता है।

author-image
Rajveer Kaur
New Update
Low Libido

(Image Credit: Pinterest)

What Are The Reasons Of Low Libido: कामवासना या लिबिडो का अर्थ है- मैथुन या सेक्स की तीव्र इच्छा। हमारे समाज में जहां सेक्स से संबंधित विषय पर बात करना टैबू समझा जाता हो, लिबिडो जैसे शब्द तो बहुत कम इस्तेमाल होते हैं। महिला को सेक्स/मैथुन की इच्छा होना आज भी सामान्य नहीं समझा जाता है लेकिन सेक्स के सुख पर महिला का भी मर्द जितना ही अधिकार है। ऐसा अक्सर देखा जाता है कि बहुत सी महिलाएँ सेक्स में रुचि नहीं दिखाती या फिर सिर्फ पति की खुशी के लिए सेक्स करती हैं। इसके साथ ही कुछ महिलाएं भी फेक ऑर्गेज्म भी करती हैं। चलिए आज हम जानेंगे कि महिलाओं में लिबिडो के कम होने के क्या कारण हैं-

Advertisment

जानें महिलाओं में लिबिडो के कम होने के कारण हैं?

हॉर्मोन में बदलाव होना (Hormonal Changes)

महिलाओं के शरीर में अलग अलग वजहों से हॉर्मोन का असंतुलन होते रहते हैं। हॉर्मोन के इस असंतुलन की वजह से महिलाओं की सेक्स की ईच्छा प्रभावित होती है। ऐसे बहुत सारे कारण है जिनकी वजह से हार्मोंस में बदलाव होता रहता है जैसे प्रेगनेंसी, पोस्टपार्टम, PCOS, मेनोपॉज आदि। टेस्टोस्टेरोन महिलाओं और पुरुषों में लिबिडो के लिए जिम्मेदार है। इसके कम होने के कारण भी महिलाओं में लिबिडो की कमी आ जाती है। इसके साथ ही ऑक्सीटोसिन जिसे लव हार्मोन भी कहा जाता है इनके लेवल कम होने के कारण भी लिबिडो में कमी आ जाती है और एस्ट्रोजन का स्तर कम होने के कारण भी लिबिडो पर प्रभाव पड़ता है।

Advertisment

एंजायटी और डिप्रेशन (Anxiety & Depression)

एंजायटी और डिप्रेशन आपकी मानसिक और शारीरिक हेल्थ पर प्रभाव तो डालते ही हैं और साथ में आपके लिबिडो को भी कम करते हैं। डिप्रेशन बहुत सारे तरीकों से आपके लिबिडो के ऊपर असर डालता है जैसे आप सेक्सुअल एक्टिविटीज को अनुभव नहीं कर पाते हैं, आपका मूड स्विंग्स होते रहते हैं, आपका आत्मविश्वास बहुत कम हो जाता है और एनर्जी का लेवल भी बहुत कम हो जाता है। सेक्सुअल एक्टिविटीज पर ध्यान न देना भी बुरा प्रभाव डालता है। ऐसे में महिला को अपनी मेंटल हेल्थ पर ध्यान देना चाहिए और जरूरी इलाज कराना चाहिए। 

भावनात्मक रूप से अलग महसूस करना (Emotional Detachment)

Advertisment

जब आप इमोशनली किसी से अलगाव महसूस करते हैं, आपके उनकी साथ बॉन्डिंग नहीं बनती है तब आप सेक्सुअल अराउजल नहीं हो पाते हैं या फिर आपका सेक्स के प्रति इंट्रेस्ट भी कम हो जाता है। इसके कारण आपके रिश्ते में दूरियां आती हैं जिसके कारण इंटिमेसी बनने में मुश्किलें होता पैदा होती है और यह यौन कनेक्शन बनने के लिए एक जरूरी चीज है। इसके साथ ही स्ट्रेस लेवल भी बढ़ने लग जाता है जो बुरे तरीके से प्रभावित करता है।

ड्रग्स और कांट्रेसेप्टिव्स का इस्तेमाल करना (Drugs & Contraceptive)

अगर आप किसी तरह का ड्रग या फिर कांट्रेसेप्टिव का इस्तेमाल करते हैं तभी चांसेस है कि आपका लिबिडो प्रभावित हो जाए। उदाहरण के तौर पर अगर आप एंटी डिप्रेशन टैबलेट या फिर पेन किलर ले रहे हैं तब भी आपके लिबिडो में कमी आ जाती है। इसके साथ ही अगर महिलाएं कांट्रेसेप्टिव्स का इस्तेमाल कर रही हैं जैसे हार्मोनल कांट्रेसेप्टिव इसके कारण भी लिबिडो में कमी आ जाती है क्योंकि यह हार्मोन को संतुलन कर देती है। इसके साथ ही अन्य कांट्रेसेप्टिव्स भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। हर महिला पर कांट्रेसेप्टिव का असर अलग तरीके से हो सकता है तो अगर आपको कुछ नहीं समझ आ रहा है तो आपको हेल्थ केयर प्रोवाइडर से जरूर बात करनी चाहिए।

Disclaimer: इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद जानकारी केवल आपकी जानकारी के लिए है। हमेशा चिकित्सा या स्वास्थ्य संबंधी निर्णय लेने से पहले किसी एक्सपर्ट से सलाह लें।

anxiety Hormonal Changes Reasons Of Low Libido
Advertisment